Bareilly News : हिस्ट्रीशीटर सुरेश प्रधान के मकान ध्वस्त करने की तैयारी,

Bareilly Triple Murder : हिस्ट्रीशीटर सुरेश प्रधान के मकान ध्वस्त करने की तैयारी, गांव में पहुंचा बुलडोजर.  

बरेली के फरीदपुर क्षेत्र में रामगंगा कटरी की जमीन पर कब्जे को लेकर हुए तिहरे हत्याकांड के मुख्य आरोपी सुरेश पाल सिंह तोमर और प्रधान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी है। भू माफिया की गतिविधि की वजह से तिहरा हत्याकांड होने से पुलिस प्रशासन की काफी बदनामी हुई है। इस दाग को धोने के प्रयास में आईजी ने बरेली पर बदायूं के एसएसपी को उसकी संपत्तियों के चिन्हित करने और जब्तीकरण के आदेश दिए हैं। अब पुलिस और प्रशासन की ओर से सुरेश प्रधान की अवैध संपत्ति का ब्योरा जुटाया जा रहा है।

उस पर बुलडोजर चलाने के लिए प्रशासन कागजी कार्रवाई पूरी करने में जुटा है। इससे पहले कि विपक्षी कोर्ट जाकर तोड़फोड़ रुकवाने का इंतजाम करें, पुलिस जल्द से जल्द उसके मकानों का ध्वस्तीकरण कराने की तैयारी में है।

शुक्रवार शाम को सुरेश के गांव रायपुर हंस में बुलडोजर भी पहुंच गया। उधर, बदायूं के उझानी में भी हिस्ट्रीशीटर के मकानों का चिन्हांकन किया गया है। सुरेश प्रधान भले ही पुराना हिस्ट्रीशीटर है, लेकिन उसके परिवार में पत्नी व अन्य लोगों के नाम शस्त्र लाइसेंस भी बने हैं। आईजी के निर्देश पर उनकी सूची बनाई जा रही है। इनको जब्त किया जाएगा। बताया जा रहा है सुरेश के पास कई अवैध हथियार भी हैं, वह उसका इस्तेमाल कटरी में आतंक फैलाने में करता है। ऐसे हथियारों को वह अपने खास गुर्गों के घर में रखवाता है।

पुलिस जांच कर रही है कि सुरेश ने किन तरीकों से करोड़ों की संपत्ति अर्जित की है। उसके करीबियों और रिश्तेदारों पर भी शिकंजा कस रही है। लग्जरी गाड़ियों के बेड़े पर भी पुलिस की नजर है। शुक्रवार को बदायूं के उझानी में पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने उसके मकानों और दुकानों का चिन्हांकन किया। इस कार्रवाई से खलबली मच रही।

हिस्ट्रीशीटर सुरेश प्रधान के गांव रायपुर हंस में भी बने मकान पर बुलडोजर चल सकता है। प्रधान को पनाह देने वाले करीबी के मकान पर भी बुलडोजर चलाने की तैयारी हो रही है। शुक्रवार को दिनभर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी इस पर माथापच्ची करते रहे कि मकान तोड़ने में कोई कानूनी अड़चन तो नहीं आएगी। इसके बाद शाम को बुलडोजर गांव में खड़ा कर दिया जिस घर के सामने बुलडोजर खड़ा किया गया है, वह सुरेश प्रधान के करीबी का है।  आईजी रेंज डॉ राजेश सिंह ने बताया कि इस तरह के अपराधियों पर शासन से पूरी सख्ती बरतने का निर्देश है। सुरेश प्रधान की संपत्ति का जब्तीकरण व मकानों को यथासंभव ध्वस्त करने की योजना है। अगर आरोपी सुरेश नहीं मिला तो इन्हीं विकल्पों पर विचार किया जाएगा। हालांकि कई टीमें लगातार उसे खोज रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गोपाल चंद्र अग्रवाल संपादक आल राइट्स मैगज़ीन                               

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: