Bareilly news : आशा कार्यकर्ताओं ने अपने वेतन को लेकर ज़िलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

बरेली ( अमरजीत सिंह )- रेल , बिजली जहाज पेट्रोलियम स्टील ( सड़क परिवहन शिक्षा , चिकित्सा से जनता का अधिकार छीनकर न सिर्फ राष्ट्रीय पूंजी का विनाश किया जा रहा है ,

अपितु हमे इनसे वंचित किया जा रहा है , रोजगार के अवसर समाप्त किये जा रहे हैं आउट सोर्सिंग व संविदा के ज़रिये श्रम के शोषण का नंगा नाच हो रहा है A संविधान प्रदत्त श्रमिकों की सुरक्षा के सभी कानूनों को समाप्त कर 4 श्रम संहितायें लाई जा रही हैं और यह एक नए दौर की गुलामी की शुरुआत है जहां मजदूरों के सारे अधिकार पूंजीपतियों के चरणों में सत्ता समर्पित करने जा रही है , टर्म एम्प्लॉयमेंट जैसे कानून के ज़रिये नौकरी का स्वरूप और चेहरा ही बदल कर समस्त जीवन की सामाजिक सुरक्षा व सेवा की निरंतरता का ही लोप हो जायेगा , यही नहीं यूनियन बनाने आंदोलन करने के लोकतांत्रिक अधिकार को भी समाप्त करने का काम इनके संहिताओं के ज़रिये किया जा रहा है P x केन्द्र की सरकार के इन्ही नीतियों के विरुद्ध व देश के करोडो श्रमिको कर्मचारियो , बेरोजगार युवाओ व समस्त जनता के सामने संविधान प्रदत्त अधिकारो श्रम कानूनों सरकारी सम्पत्तियों की हीफाजत के साथ साथ शिक्षा चिकित्सा , परिवहन जैसी बुनियादी व्यवस्थाओं तक अपनी पहुँच बचाये रखने व अपने हक अधिकार और जीवन की बेहतरी के सवालों को लेकर देश के 10 राष्ट्रीय श्रम महासंघो स्वतंत्र फेडरेशनो की 28 29 मार्च 2022 की दिवसीय राष्ट्रीय हडताल का सक्रिय समर्थन करते हुये आपकी सेवा में पंजापन के माध्यम से अपनी मांगों को प्रस्तुत कर अपेक्षा है कि इन्हें स्वीकार करने की कृपा की जायेगी !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: