मायावती ने किया हार का मंथन , दलित नेताओं को दी बड़ी जिमेदारी

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में बीएसपी के अब तक के सबसे खराब प्रदर्शन के बाद मायावती सक्रिय हो गई हैं और ऊपर से नीचे तक संगठन के पेच कसे जा रहे हैं। इसी कड़ी में रविवार को लखनऊ में मायावती ने बीएसपी की हार की समीक्षा के लिए मीटिंग बुलाई थी। इस बैठक में यह फैसला यह हुआ है कि बीएसपी में राज्य के 4 महत्वपूर्ण समूहों को समान प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। mayawatiये समूह हैं- दलित, ओबीसी, मुस्लिम और सवर्ण। दरअसल अब तक बीएसपी की ओर से हर विधानसभा में एक समन्वयक यानी कोऑर्डिनेटर नियुक्त किया जाता था। आमतौर पर यह जिम्मेदारी दलित नेताओं को मिलती थी। लेकिन अब मायावती ने प्लान बनाया है कि हर विधानसभा में 4 नेताओं को जिम्मा दिया जाए। ये चारों नेता अलग-अलग वर्गों के होंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: