विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति, उ०प्र० बरेली क्षेत्र, बरेली।

बरेली (अशोक गुप्ता )- ऊर्जा निगमों के ई आर पी भ्रश्टाचार की सी बी आई जॉच की मांग अरबो रूपये के भ्रश्टाचार पर पर्दा डालने हेतु लोकतांत्रिक आन्दोलन का दमन किया गया, तो परिणाम गम्भीर होगें। प्रदेष भर में आज से असहयोग सविनय अवज्ञा आन्दोलन जो जनहित को देखते हुए होली पर्व पर र्निबाध विद्युत आपूर्ति हेतु दिनंाक 17.03.2022 से 20.03.2022 तक स्थगित था पुनः आज दिनंाक 21.03.2022 से प्रदेष स्तर पर समस्त जनपद मुख्यालयों एवं परियोजनाओं पर हुई विरोध सभा में अभियंताओं एवं जूनियर इंजीनियरों ने प्रबन्धन की उत्पीडात्मक रवैया पर जताया रोश।
उत्तर प्रदेष ऊर्जा नियमों के अभियन्ताओं एवं जूनियर इंजीनियरों द्वारा भ्रश्टाचार एवं भयग्रस्त वातावरण के विरोध में चलाये जा रहे षांतिपूर्ण ध्यान आकर्शण कार्यक्रम का दमन करने हेतु ऊर्जा विभागों के प्रबन्धन द्वारा जारी प्रेस नोट को झूठ का पुलिंदा बताते हुए आज बरेली जनपद में आहूत सविनय अवज्ञा सत्याग्रह विरोध सभा में संगठन के पदाधिकारियों इंजीनियर आर0जे0 वर्मा, इंजीनियर गौरव षर्मा, एस.एस रावत, पारस रस्तोगी ने जारी वक्तव्य में चंेतावनी दी है कि एम्सा एवं पुलिस बल के जरिए आन्दोलन को दबाये जाने की कोषिष हुई तो उसके गम्भीर परिणाम होगें।


उत्तर प्रदेष के ऊर्जा नियमों के प्रबन्धन द्वारा ई आर पी की खरीद एवं कोयले का समय से भुगतान न किये जाने के कारण रू0 20/-प्रति यूनिट तक बिजली खरीद के मामले में प्रेस में जारी किये गये बयान को पूरी तरह असत्य बताते हुए संगठन के सदस्य सतीष जायसवाल ने पुनः यह आरोप दोहराया है कि ई आर पी प्रणाली खरीद एवं बिजली क्रय करने में कुछ स्तर पर बडे पैमाने पर भ्रश्टाचार हुआ है। जिस पर पर्दा डालने के लिए प्रबन्धन कर्मचारी संगठनों ने षांतिपूर्ण ध्यान आकर्शण आन्दोलन को एम्सा लगाकर लोकतांत्रिक ढंग से दमन करने की कोषिष कर रहा है।
संगठन के पदाधिकारी मंजीत सिंह प्रदेष के यषस्वी मुख्यमंत्री मा0 श्री आदित्यनाथ जी से अपील की है कि सरकार की भ्रश्टाचार के प्रति जीरो टोलरैन्स नीति की खुलेआम धज्जियॉ उडाने वाले अरबों रूपये के इस घोटाले की सी बी आई से उच्चस्तरीय जॉच करायी जाये एवं घोटाले के दोशी षीर्श प्रबन्धन पर कठोर कार्यवाही की जाये।
संगठन के सदस्य इंजीनियर विपुल षुक्ला ने ऊर्जा नियमों के प्रबन्ध न द्वारा जारी आदेषों का हवाला देते हुए बताया है कि उत्तर प्रदेष पाकालि ने दिनांक 29 दिसम्बर 2018 को मै0 एसेन्चर सोल्यूषन प्रालि को 244.49 करोड उप्र राविउनिलि0 द्वारा 21 सितम्बर 2019 को मै0 लार्सन एवं एण्ड एल एण्ड टी इन्फोटैक लिमिटेड को रू0 122 करोड दिनांक 1 जनवरी 2021 को मै0 ओडीसी कम्प्यूटर्स को 38.49 करोड एवं उत्तर प्रदेष पाट्राकालि ने दिनांक 04.12.2020 को मै0 एसेन्चर सोल्यूषन प्रालि को रू0 52.98 करोड का आदेष किया गया है। यह कुल धनराषि 457.97 करोड रू0 होती है जिस पर 18 प्रतिषत जीएसटी जोडने पर कुल खर्च रू0 511.52 करोड का होता है। जबकि ऊर्जा नियमों के प्रबंन्धन में मात्र 244 करोड रू0 का हवाला दिया है। जो कि पूरी तरह असत्य है। उक्त सभी आदेषों के प्रतिलिपि संगठनों के नाम है।


संयुक्त संघर्श समिति के सदस्य एवं आज के विरोध सभी के अध्यक्ष वैभव सिंह ने बताया है कि यह लगभग 511.52 करोड रू0 ई आर पी लागू करने की प्रारम्भिक आदेष है जबकि ई आर पी की पूरी प्रणाली लागू होने तक खर्च लगभग 700 करोड रू0 तक पहुॅच जायेगा। जबकि देष के अधिक कर्मचारी एवं सबसे अधिक विद्युत उपभोक्ता वाले प्रदेष महाराश्ट्र में विद्युत वितरण कम्पनी मात्र 25 करोड रू0 में ई आर पी प्रणाली के कार्य हेतु आदेष दिया है। उसकी तुलना में उत्तर प्रदेष में 20 गुना से अधिक की धनराषि खर्च की गयी है जो कि सरासर भ्रश्टाचार है।
विगत वर्श माह सितम्बर, अक्टूबर में विद्युत उत्पादन नियम के ताप बिजली घरों में कोयले संकट का मुख्य कारण कोयले खरीद का समय से भुगतान न कर पाना है। जिसके लिये षीर्श ऊर्जा प्रबन्धन सीधे जिम्मेदार है। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेष राविउनिलि0 लगातार मुनाफा देने वाली विद्युत उत्पादन कम्पनी है एवं प्रदेष को सबसे सस्ती बिजली देने वाली कम्पनी है ऐसे में षीर्श ऊर्जा प्रबन्धन द्वारा उनिलि को कोयले के भुगतान की अदायगी समय ना कर मंहगी बिजली रू0 20 प्रति यूनिट एनर्जी एक्सचेन्ज से खरीदा जाना षीर्श ऊर्जा प्रबन्धन की विफलता एवं भ्रश्टाचार भी है।


दिनांक 15 मार्च 2022 से षुरू हुए असहयोग सविनय अवज्ञा आन्दोलन में इं0 विकास सिघंल, इं0 राजेष षर्मा, इं0 पंकज भारती, इं0 विवेक पटेल, इं0 गौरव षुक्ला, इं0 सत्यार्थ गंगवार, इं0 रविन्दर कुमार,इं0 आलोक, इं0 ताजिम, इं0 अमित गंगवार, इं0 आन्नद बाबू, इं0 रजित कुमार, इं0 के0के0 भार्गव एवं रवीन्दर कुमार, इं0 आकाष अग्रवाल, मनोज सिंह, सुषील कुमार एवं बरेली जनपद के अन्य अभियंताओं एवं जूनियर इंजीनियरों तथा संयुक्त संघर्श समिति के अन्य घटक दलों के सदस्यों ने सहभागिता सुनिष्चित करते हुए जनपद मुख्यालयांे एवं परियोजनाओं पर सायं 04 बजे से 05 बजे के बीच 01 घण्टे का विरोध प्रदर्षनक कर ऊर्जा निगम षीर्श प्रबन्धन के उत्पीडनात्मक एवं तानाषाही रवैया पर आक्रोष व्यक्त किया आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता इं0 विजय कुमार कनौजिया द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: