बिजली के तारों से लगी आग , किसान को लाखों का हुआ नुकसान ।

बरेली (अशोक गुप्ता )- विधानसभा क्षेत्र में एक गन्ने के खेत में बिजली के तार गिरने से लगी आग । लाखों का गन्ना हुआ जलकर राख । बता दे शनिवार को भोजीपुरा विधानसभा क्षेत्र में दभौरा -खंजनपुर के समीप प्लाई बोर्ड फैक्ट्री के पीछे गन्ने के खेत में 11,000 के बी बिजली के तार गन्ने के बीचो-बीच खेत से गुजर रहे हैं । जिस खेत के समीप बिजली का पोल गिरने से तार इतने नीचे आ गए हैं कि किसानों के द्वारा लकड़ी के खंबे गाड़ कर बिजली के तारों को रोका गया है ।

आज वही अनहोनी का सामना देखने को मिला । 11000 केवी बिजली का तार गन्ने के खेत में गिर गया । इसके गिरते ही गन्ने के खेत में आग लग गई । आग लगते ही गन्ने के खेत में तेज हवा चलने के कारण एक ओर से दूसरी ओर जलाते हुए पार कर गई । मौके पर उपस्थित किसानों ने बताया कि किसान का लगभग 10 बीघा गन्ना जल गया है । वह गन्ना किसान द्वारिका प्रसाद का बताया जाता है । लोगों ने बताया द्वारका प्रसाद सीबीगंज जीटीआई कॉलेज में कार्य करते हैं । लोगों ने बताया गन्ने मालिक को सूचना दे दी गई है । आग लगते ही आस-पड़ोस के किसानों ने आग बुझाने का पूरा प्रयास किया , लेकिन आग पर काबू नहीं ले पाए ।

उपस्थित किसानों के द्वारा अग्नि यंत्र अधिकारियों को भी सूचना दी गई। लेकिन जब तक अग्निशमन मौका ए वारदात तक पहुची लगी आग ने किसान को लाखों की क्षति पहुंचाई है । पड़ोसी किसान वीरेंद्र कुमार शर्मा ने बताया बिजली के लटकते तारों से करंट लगकर कई जंगली जानवर भी मर चुके हैं । लेकिन बिजली विभाग महीनों से इन बिजली के जर्जर हालात में पोल व तारों की सुध नहीं ले रहा है । किसानों कहना है अभी तो हमारे माल से गुजरी है इन जर्जर हालत में पड़े तारों से किसानों की जान भी जा सकतीं है । वहां के किसानो ने कहा है बिजली विभाग तत्काल बिजली के पोल व तारों के नवीकरण कराएं। और किसान के खेत में हुई क्षति में मुआवजे की भी मांग की है ।

उन्होंने कहा है कि अगर बिजली विभाग जल्द सुध नहीं लेता है तो वह अपनी मांगों को लेकर उच्च अधिकारियों तक जाएंगे । पड़ोसी किसान वीरेंद्र कुमार शर्मा के साथ नरेश सिंह राजू सिंह राहुल सिंह कुलवीर सिंह आदि दर्जनों किसानों ने आग बुझाने के लिए हर संभव प्रयास किए । लेकिन लगी आग उनके काबू से बाहर हो गई । पड़ोस के सभी किसानों ने अपनी जान जोखिम में डालकर आग को बुझाने के प्रयास कर एक मानवता का सबूत पेश किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: