Bareilly News : 17 सितंबर 2022 से शुरू होने वाले सेवा पखवाड़ा को सफल बनाया जाए-मंडलायुक्त

बरेली, 14 सितम्बर। मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने आज कमिश्नरी सभागार में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों, कर करेत्तर, निर्माण कार्यों की मंडलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं।

मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने अपर निदेशक स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि मंडल में 17 सितम्बर, 2022 से सेवा पखवाड़ा आयोजन किए जाने में पीएम टीवी मुक्ति अभियान, आयुष्मान कार्ड आदि सहित अन्य स्वास्थ्य से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए। मंडलायुक्त ने समस्त जिलाधिकारियों से कहा कि अपने अपने जनपद में सेवा पखवाड़ा को सफलतापूर्वक पूर्ण कराये। अपर निदेशक स्वास्थ्य ने मंडलायुक्त को अवगत कराया कि शासन से प्राप्त बूस्टर डोज वैक्सीन का शीघ्र वैक्सीनेशन करा दिया जाता है। मंडलायुक्त ने अपर निदेशक स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि जो सब सेंटर बनकर तैयार हो गए हैं उन्हें संचालित किया जाए। उन्होंने किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत मंडल के जनपदों में किसानों का डाटा सही कराए जाने के निर्देश संयुक्त निदेशक कृषि को दिए। उन्होंने कहा की शासन द्वारा किसान सम्मान निधि की किस्त जारी होने से पूर्व सभी पात्र किसानों का डाटा ठीक कराना सुनिश्चित करें।

मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने अपर निदेशक पशुपालन को निर्देश दिए कि मंडल के जनपदों में गौवंश में लम्पी स्किन रोग की रोकथाम हेतु टीकाकरण की प्रगति को बढ़ाया जाए। उन्होंने कहा कि गौवंश आश्रय स्थल, शहर में संचालित डेरी, प्राइवेट गौशाला, आवारा पशु, पशु पालकों के यहां पल रहे गौवंश आदि का अधिक से अधिक टीकाकरण किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि आईवीआरआई में गौवंशों के सैम्पलिंग की जांच में कितना समय लगता है इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है, उन्होंने कहा कि वहां पर स्वयं जाकर देखें की जो सैंपल जांच के लिए गए हैं, उसमें ज्यादा विलंब न किया जाए और जांच रिपोर्ट तत्काल प्राप्त की जाए। उन्होंने कहा कि जिस गौवंश में लम्पी स्किन रोग के लक्षण पाए जाते हैं तो उसको अलग कर शीघ्र उपचार कराया जाए। उन्होंने सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा को निर्देश दिए कि जिन विद्यालयों को सम्बंधित अधिकारियों द्वारा गोद लिया गया है, उन विद्यालयों का निरीक्षण नियमित रूप से सम्बंधित अधिकारी द्वारा किया जाए और उसकी रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए।

मंडलायुक्त श्रीमती सेल्वा कुमारी जे ने सभी मंडलीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्मार्टफोन एवं टेबलेट वितरण में अवशेष रह गये हैं उनका पात्र विद्यार्थियों को नियमानुसार शीघ्र वितरण कराया जाए। मंडलायुक्त को अपर निदेशक पशुपालन ने अवगत कराया कि मंडल में 246 निराश्रित गौवशों को पकड़ कर गौशालाओं में रखा गया है। मंडलायुक्त ने निर्देश दिए कि गौवंश आश्रय स्थल में रह रहे है, उनको खाने के लिए भूसा तथा हरे चारे की उचित व्यवस्था कराना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने खाद्य विपणन विभाग को निर्देश दिए कि किसानों के धान विक्रय हेतु पंजीकरण कराए जाने के लिए किसानों को जागरूक किया जाए और पूर्व में पंजीकृत किसानों के मोबाइल पर मैसेज किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि धान क्रय केंद्र संचालित होने से पहले सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाए। उन्होंने उपनिदेशक कृषि को निर्देश दिए कि धान की पराली को न जलाया जाए इसके लिए कृषक भाइयों को जागरूक किया जाए।

मंडलायुक्त ने चीनी मिल बहेड़ी, नवाबगंज, बरखेड़ा, मकसूदापुर, बिसौली द्वारा गन्ना किसानों का भुगतान कम होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि शीघ्र गन्ना किसानों का भुगतान किया जाए और चीनी मिल संचालित होने से पहले सभी व्यवस्थाएं कराए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने जल जीवन मिशन के अंतर्गत हर घर नल योजना के अंतर्गत शाहजहांपुर, बदायूं की प्रगति कम होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि शीघ्र प्रगति को बढ़ाया जाए। उन्होंने अधिशासी अभियंता जल निगम ग्रामीण को निर्देश दिए कि जिन ग्राम पंचायतों में ओवरहेड टैंक बन चुके हैं ऐसे ग्राम पंचायतों में जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित कर पानी सप्लाई का शुभारंभ कराया जाए। उन्होंने कहा कि पानी की शुद्धता की जांच अवश्य हो और कनेक्शन की संख्या को भी बढ़ाया जाए। उन्होंने सभी मंडलीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि आईजीआरएस की शिकायतों का निस्तारण समयांतर्गत किया जाए और कोई भी शिकायत डिफाल्टर की श्रेणी में हो। उन्होंने बदायूं की राजस्व वसूली में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष कम होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि राजस्व वसूली की प्रगति बढ़ाई जाए।

मंडलायुक्त ने उप निदेशक अर्थ एवं संख्या अधिकारी ने अवगत कराया कि 50 लाख से अधिक निर्माण परियोजनाओं में 265 स्वीकृत हैं, जिसमें से 146 परियोजनाएं प्रगति पर है, 68 परियोजना का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है 13 अनारंभ है, 36 परियोजनाओं का निर्माण धनाभाव के कारण निर्माण पूर्ण नहीं हो पाया है, 14 परियोजना को संबंधित विभाग को हस्तांतरित कर दिया गया है, दो परियोजनाओं का निर्माण कार्य भूमि विवाद या अन्य विवाद के कारण कार्य रुका हुआ है। मंडलायुक्त ने सम्बंधित कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिए कि जो परियोजनाओं का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है, उन्हें सम्बंधित विभाग को शीघ्र हैंडओवर किया जाए। उन्होंने कहा कि धनाभाव के कारण परियोजना के निर्माण कार्य लंबित ना हो उसके लिए शासन से पत्र प्रेषित कर धनराशि की मांग की जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: