मुक़द्दस रमज़ान: अगर आज चाँद नज़र आया तो शुरू होगी मस्जिदों में नमाज़-ए-तरावीह।

बरेली (अशोक गुप्ता )- पाक माह रमज़ान 3 या 4 अप्रैल से शुरू हो जाएंगे। 2 अप्रैल हफ़्ता (शनिवार) को चाँद देखने का एहतिमाम किया जाएगा। अगर आसमान में रमज़ान का चाँद नज़र आ गया तो सभी प्रमुख दरगाहों,ख़ानक़ाहों व मस्जिदों में नमाज़-ए-तरावीह (रमज़ान में पढ़ी जाने वाली विशेष नमाज़) शुरू हो जाएगी। रमज़ान की तैयारियां शुरू हो चुकी है। मस्जिदों में साफ-सफाई,रंगाई-पुताई कर उन्हें सजाया संवारा जा रहा है। पिछले 2 साल से कोविड 19 महामारी के कारण मस्जिदों में मुक़म्मल तौर से इबादत नही हो पायी थी। अधिकतर लोगों ने घरों में नमाज़ अदा की थी। इस बार रोज़ेदारों में काफी उत्साह है कि बिना बंदिश इबादतगाहों में अल्लाह की इबादत कर सकेगें। नमाजियों की सहूलियत को देखते हुए सभी प्रमुख दरगाहों,ख़ानक़ाहों व मस्जिदों की इन्तेज़ामिया कमेटी ने मुक़म्मल कुरान के दिन तय कर दिए है।


दरगाह के मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी ने बताया इस मर्तबा कारोबारियों की सहूलियत को देखते हुए आज़म नगर स्थित जामन वाली मस्जिद में मस्जिद कमेटी के सुल्तान क़ुरैशी व लईक कुरैशी ने 2 शिफ्टों में नमाज़-ए-तरावीह कराने का फैसला लिया है। जिसमें पहली शिफ्ट में नमाज़-ए-तरावीह रात 8 बजकर 25 मिनट पर शुरू होगी। जिसका क़ुरान मुक़म्मल 21 वे रोज़े व 22 वी शब (रात) में होगा। वही दूसरी शिफ्ट रात 10 बजकर 30 मिनट पर शुरू होगी। दूसरी शिफ्ट का मुक़म्मल 12 वे रोज़े व 13 वी शब में होगा। इसके अलावा दरगाह शाह शराफत अली मियां में दो कुरान मुक़म्मल होगें। पहला नवाँ रोज़े व दसवीं शब को वही दूसरा 26 वे रोज़े व 27 वी शब को मुक़म्मल होगा।
वही शहर में सबसे पहले पुराना शहर बालजती की गुलड वाली मस्जिद में छठे रोज़े व सातवीं शब में,नॉवेल्टी स्थित दरगाह पहलवान साहब,सिटी सब्ज़ी मंडी की एक मीनार मस्जिद व कटरा मानराय की मस्जिद यतीमखाना में दसवें रोज़े व ग्यारहवीं शब में, खानकाह-ए-वामिकिया व इस्लामिया मार्केट की नूरी मस्जिद में 11 वे रोज़े व 12 शब में,सिटी स्टेशन वाली मस्जिद में बारहवें रोज़े व तेहरवीं शब में,ख़ानक़ाह-ए-नियाज़िया में 16 वे रोज़े व 17 वी शब में, शाहमत गंज की मस्जिद हबीब शाह में 21 वे रोज़े और 22 वी शब, दरगाह आला हज़रत स्थित रज़ा मस्जिद,दरगाह शाहदाना वली, शाही जामा मस्जिद,नोमहला मस्जिद,कुतुबखाने की सुनहरी मस्जिद,कचहरी वाली मस्ज़िद समेत अधिकतर मस्जिदों में 26 वे रोज़े व 27 वी शब में और सबसे आखिर में दरगाह वली मियां स्थित चाँद मस्जिद में 27 वे रोज़े व 28 वी शब में क़ुरान मुक़म्मल होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: