ऑनलाइन ठगी का शिकार हुए युवक युवतियाँ लगाई एसएसपी और ज़िलाधिकारी से न्याय की गुहार

बरेली ( अमरजीत सिंह )-  प्रार्थीगण दीपिका शर्मा पत्नी श्री अनुज कुमार शर्मा से ( 1,80,000 ) 2. मीनाक्षी पत्नी महेश कुमार से ( 1,30,000 ) 3. विकास पाण्डेय पुत्र श्री सतीश चन्द्र पाण्डेय से ( 1.20,000 )

सुमित पुत्र श्री . समसेवक से ( 71,000 / – रू ) राजीव पुत्र रघुवीर सिंह से ( 30,000 / -रु ) जयइन्द्रपाल सिंह पुत्र पूरन लाल से ( 70,000 / – रू ) माया देवी पत्नी धर्मेन्द्र पाल से ( 70,000 / – रू ० ) अर्चना पुत्री अमर सिंह से ( 1,00,000 / -रू ) वीर : सिंह पुत्र अमर सिंह ( 1,50,000 / -रू ० ) कुनाल कुमार पुत्र राकेश कुमार से ( 30,000 / – ~ -रू ) भगवान सिंह पुत्र पूरन लाल से ( 40,000 / -रू ) कमलकान्त पुत्र रघुवीर सिंह ( 40,000 / -रू ) हरि ओम पुत्र लक्ष्मी नरायण से ( 40,000 / – रू ) श्रीमती प्रिया अग्रवाल पत्नी श्री मुनीष कुमार अग्रवाल से ( 1,30,000 / – स ० ) आकाश बाबू पुत्र चरन सिंह से ( 60,000 / -रू ० ) रवि बाबू गंगवार पुत्र श्री कृष्ण बाबू गंगवार से ( 06.000 / -60 ) जितेन्द्र शर्मा पुत्र घनेन्द्र लाल शर्मा ( 1,00,000 / – रू 0 ) से विजेन्द्र पुत्र राजेन्द्र सिंह से ( 1,00,000 / -रू ) आदि से ऑल इण्डिया कौंसिल ऑफ ओण्टी ० टैक्नीशियन्स द्वारा हम प्रार्थीगणों से ठगी की गयी है । जिसके अध्यक्षप तेज प्रताप पटेल और सचिव सुभाष चन्द्र भारद्वाज , जय शर्मा , नेहा पटेल , मनोज गंगवार , अशोक गंगवार , ज्ञानीजैल सिंह द्वारा जिन्होंने कार्यालय – गली नं0-04 , शिव गार्डन , डोहरा रोड , नियर रूद्राक्ष अपार्टमेन्ट बरेली उ 0 प्र 0 पिन नं० -243001 पर डा ० विमल भारद्वाज व विनोद पागरानी के द्वारा कार्यालय बनाया गया जिसके सहयोगी सी ० एम ० ओ ० बलवीर सिंह ए ० सी ० एम ० ओ ० हरपाल सिंह के फोटो व नाम द्वारा प्रयोग किया गया व भिन्न प्रकार के पदों की नियुक्तिया फर्जी बेवसाइट बनाकर www.all cindiacott.com के नाम से ग्रामीण स्तर पर एडमीशन फीस 11,000 / – रू ० ऑन लाइन द्वारा ली गयी तथा नाफरी के नाम पर विभिन्न पदों पर हम प्रार्थीगणों से पृथक पृथक नकद रुपये व चैक द्वारा व एकान्ट ट्रांजेक्शन • कराया गया तथा कुछ नेहा पटेल ऑल इण्डिया कासिल ० टी ० टैक्नीशियन की डायरेक्टर द्वारा ग्रामीण डाक्टरों द्वारा भी कई व्यक्ति के साथ धोखाधड़ी की गयी है तथा डाक्टरों के पास जाकर उन्हें डसना व धमकाने का कार्य करते लोग है तथा किसी प्रकार के हम कोई भी गलेत कार्य नहीं होने देते है । थे कि हमारी संस्था के साथ बरेली के सी ० एम ० ओ ० व ए ० सी ० एमओ से जुड़े यह प्राथगणों को फर्जी आई कार्ड देकर नियुक्तिया की गयी परन्तु हम प्रार्थीगणों को न के बराबर सैलरी और न ही कोई काम मिला जिसपर हम सभी प्रार्थगणों ने कार्य के बारे में पूछा तो विपक्षीगणों द्वारा बेवबसाइटद्वारा लगा हम जैसे 500 से अधिक साबित के साथ ठगी की गयी है तथा विपक्षीगण ने राज्य सरकार के मन लेवल की पदों की नियुक्तियां ( डी ० सी ० बी ० सी ० ओ ० आर ० एच ० एस ० ई ० एम ० टी ० आदि ) द्वारा की गयी थी परन्तु आज तक न तो हम प्रार्थीगणों को जॉब और न ही कोई सैलरी दी गयी है दिनांक 14.05 2022 को रात्रि में सचिव सुभाष चन्द्र भारद्वाज द्वारा एक मैसेज वायरल किया गया कि अब कोई भी किसी का पैसा हम नहीं दे सकते पेमेन्ट के लिये कोई भी उम्मीद न करें , यह मैसेज करके शहर छोड़ कर भाग गये जिसका पता किसी को नहीं था और इनके अध्यक्ष से पूछने पर अध्यक्ष ने मना कर दिया कि हम भी नहीं पता तथा अध्यक्ष से हमने कहा कि कल आप हम से मिलो लेकिन अध्यक्ष ने धमका कर मिलने से मना कर दिया जिसपर हम सब एक राय होकर दिनांक 15.03.2022 को जब हम वेतन न मिलने पर बाकी कर्मचारियों ने इनके कार्यालय पर होली के उपलक्ष्य में वेतन की मांग की तो अध्यक्ष तेज प्रताप पटेल ने देने से इन्कार कर दिया तथा जय शर्मा ने पांच छः लड़कों को बुलाकर हम लोगों को डराया व धमकाया तथा कहा कि हमारे साथ कई बड़े अधिकारी हमारे साथ है हम तुम्हे कुछ नहीं देंगे और न ही तुम हमारा कुछ कर पाओगे । हम प्रार्थीगणों के साथ धक्का मुक्की व मारपीट जो लड़के बुलाये थे उनके द्वारा की गयी थी । जिसपर विपक्षीगणों ने अपने बचाव में 112 नं ० पर फोन करके पुलिस को मौके पर बुलाया तथा पुलिस द्वारा मौके का फोटो खींच कर ले गये , तथा रूहेलखण्ड चौकी इंचार्ज के पास जाने को बताया परन्तु हम प्रार्थीगणों से किसी प्रकार की कोई लिखा पढ़त नहीं करायी तथा आश्वासन देकर जाने को कहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: