वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से रोजगार मेला के तहत सरकारी विभागों और संगठनों में भर्ती किए गए लगभग 71,000 लोगों को नियुक्ति पत्र के वितरण के अवसर पर प्रधानमंत्री के भाषण का मूल पाठ

नमस्‍कार!

साथियों,

ये साल 2023 का पहला रोजगार मेला है। 2023 की शुरुआत उज्ज्वल भविष्य की नई उम्मीदों के साथ हुई है। ये उन 71 हजार परिवारों के लिए खुशियों की नई सौगात लेकर आया है, जिनके सदस्य को सरकारी सेवा करने का अवसर मिला है। मैं सभी युवाओं और उनके परिवारों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

आज का ये आयोजन सिर्फ सफल उम्मीदवारों में ही नहीं बल्कि करोड़ों परिवारों में आशा की नई किरण का संचार करेगा।आने वाले दिनों में लाखों और परिवारों को सरकारी नौकरी में नियुक्ति मिलने वाली है।

केंद्र सरकार के साथ ही एनडीए और भाजपा शासित राज्यों में भी लगातार रोजगार मेले का सिलसिला चल रहा है, आयोजन किया जा रहा है। कल ही, असम सरकार ने रोजगार मेले का आयोजन किया था। मुझे बताया गया है कि आने वाले कुछ ही समय में मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और उत्तराखंड जैसे अनेक राज्‍यों में रोजगार मेले होने वाले हैं। निरंतर हो रहे ये रोजगार मेले अब हमारी सरकार की पहचान बन गए हैं।

ये दिखाता है कि किस तरह हमारी सरकार जो संकल्प लेती है, उसे सिद्ध करके दिखाती है। आपको याद होगा, पिछले साल धनतेरस के पावन अवसर पर पहले रोजगार मेले का आयोजन हुआ था।

आज, मुझे रोजगार मेले में सरकारी सेवा पाने वाले कुछ युवा साथियों से बातचीत करने का भी मौका मिला। उनके चेहरे पर खुशी और संतोष का भाव साफ दिख रहा है। उनमें से ज्यादातर बहुत ही सामान्य परिवार के सदस्‍य हैं। और उनमें कई ऐसे युवा हैं, जो पूरे परिवार में, पिछली पांच पीढ़ी में सरकारी सेवा, सरकारी नौकरी पाने वाले परिवार के पहले सदस्य हैं। उन्हें खुशी सिर्फ इस बात की नहीं है कि उन्हें सरकारी सेवा करने का, सरकारी नौकरी करने का मौका मिला है। उन्हें इस बात का भी संतोष है कि पारदर्शी और स्पष्ट भर्ती प्रक्रिया होने की वजह से उनकी योग्यता का सम्मान हुआ है।

आप सबने भी इस बात को महसूस किया होगा कि भर्ती प्रक्रिया में व्यापक बदलाव हुआ है। केंद्रीय सेवाओं में भर्ती प्रक्रिया पहले की तुलना में ज्यादा streamlined और time bound हुई है।

आज आप भर्ती प्रक्रिया में जिस पारदर्शिता और जिस रफ्तार को देख रहे हैं, वो सरकार के हर काम में दिख रहा है। एक समय था, जब नियमित तौर पर होने वाले प्रमोशन में भी अलग-अलग वजहों से अड़चनें आ जाती थीं।

हमारी सरकार ने अलग-अलग विवादों का निपटारा किया, कोर्ट-कचहरी के भी मामले ढेर सारे होते हैं, लंबे समय से रुके हुए प्रमोशनों को बहाल करने की प्रतिबद्धता दिखाई। पारदर्शी तरीके से भर्ती और पदोन्नति युवाओं में भरोसा जगाती है। ये पारदर्शिता उन्हें बेहतर तैयारी के साथ कंपटीशन में उतरने के लिए प्रेरित करती है। हमारी सरकार इसी दिशा में निरंतर काम कर रही है।

आज जिन्हें नियुक्ति पत्र मिला है, उनके लिए ये जीवन का एक नया सफर है। सरकार का एक अहम हिस्सा होने के नाते, विकसित भारत की यात्रा में आपकी सक्रिय भागीदारी रहेगी, विशेष जिम्मेदारी रहेगी। आप में से ज्यादातर लोग सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर सीधे लोगों से जुड़ेंगे। आप में से हर कोई अपने तरीके से लोगों के जीवन को प्रभावित करेगा।

आपने सुना होगा, व्यापार-कारोबार की दुनिया में कहा जाता है कि Consumer is always right. वैसे ही शासन व्यवस्था में हमारा मंत्र होना चाहिए-  Citizen is Always right. वही भावना हमारे भीतर की सेवा प्रवृत्ति को और ताकत देती है। आपको ये कभी भूलना नहीं चाहिए कि जब आप सरकार में नियुक्त होते हैं तो उसे गवर्नमेंट सर्विस कहा जाता है, जॉब नहीं कहा जाता। अगर प्राइवेट में जाते हैं तो कहते हैं जॉब करते हैं। सरकार में आते हैं तो कहते हैं सेवा करते हैं। अगर आप सेवाभाव को मन में रखकर इन 140 करोड़ मेरे देशवासियों की सेवा करना, इतना बड़ा सौभाग्य मिलेगा। जीवन में एक अवसर मिला है और उस भाव से हम काम करेंगे तो इसका लोगों पर सकारात्मक असर पड़ेगा और आपको भी अपने काम में आनंद आएगा।

आपने अभी देखा कि सरकारी सेवा पाने वाले कई हमारे कर्मचारी साथी, कर्मयोगी बंधु ऑनलाइन ट्रेनिंग ले रहे हैं। डिजिटल ट्रेनिंग प्लेटफॉर्म iGOT कर्मयोगी से उन्हें भविष्य की तैयारी के लिए मदद मिल रही है। ऑफिशियल ट्रेनिंग प्रोग्राम से अलग इस प्लेटफॉर्म पर और भी कई कोर्सेज हैं, जो आपकी व्यक्तिगत क्षमता बढ़ा देते हैं। आपके व्यक्तित्व के विकास में, आपके सोचने की गहराई में उत्तरोत्तर प्रगति होती है, लाभ होता है।

मुझे विश्‍वास है कि self learning through technology ये आज की पीढ़ी को मिला हुआ अवसर है, इसको जाने मत देना। जीवन में लगातार सीखने रहने की ललक ही हम सबको आगे बढ़ाती है। और मैं हमेशा कहता हूं मैं मेरे भीतर के विद्यार्थी को कभी मरने नहीं देता हूं। आप भी, कहीं पर भी पहुंचे, आप लगातार कुछ न कुछ सीखते जाइए। जो आपकी क्षमता बढ़ाएगा, जिस इंस्टिट्यूट से आप जुड़े हैं उसकी क्षमता बढ़ाएगा और इन सबके प्रयास से ही भारत की क्षमता बढ़ेगी।

बदलते हुए भारत में, तेजी से आगे बढ़ते हुए भारत में रोजगार और स्वरोजगार के अवसर लगातार बन रहे हैं। और जब विकास तेज होता है तो स्वरोजगार के अवसर अनगिनत मात्रा में बनने लगते हैं, जो आज भारत अनुभव कर रहा है। आज स्‍वरोजगार का क्षेत्र बहुत आगे बढ़ रहा है। पिछले 8 वर्षों में व्यापक स्तर पर इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास से रोजगार के लाखों अवसर बने हैं। इंफ्रास्ट्रक्चर में 100 लाख करोड़ का निवेश रोजगार की अपार संभावनाओं के द्वार खोल रहा है।

आप जानते हैं कि, जब एक नई सड़क बनती है तो उसके आसपास कैसे रोजगार की भी नई राह बनने लगती हैं। उसी सड़क के किनारे नए बाजार खड़े हो जाते हैं, तमाम तरह की दुकानें खुल जाती हैं। सड़क होने की वजह से किसानों के उत्पाद आसानी से बाजार तक पहुंचने लगते हैं।

इसी तरह जब कोई जगह, नई रेलवे लाइन से कनेक्ट होती है, तो वहां का बाजार समृद्ध होने लगता है। आवाजाही की सुविधा होने की वजह से पर्यटन का भी विस्तार होने लगता है। और इस तरह के हर विस्तार में रोजगार की नई संभावनाएं मौजूद होती हैं।

आज भारतनेट प्रोजेक्ट के जरिए हर गांव तक ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पहुंचाई जा रही है। जब हम गांवों को इंटरनेट के जरिए बाकी दुनिया से जोड़ते हैं तो इससे भी रोजगार के नए अवसर बनने लगते हैं। टेक्नोलॉजी को ना समझने वाला व्यक्ति भी ये जानता है कि पहले जिन कामों के लिए भागदौड़ करनी पड़ती थी, वो अब मोबाइल या कंप्यूटर पर एक क्लिक में हो जाती है।

हम देखते हैं कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए कई बार वो टेक्नोलॉजी के किसी जानकार की मदद चाहता है। और सामान्य मानवी की इसी जरूरत से रोजगार की नई-नई संभावनाएं पैदा हो रही हैं। आज गांवों, कस्बों या शहरों में भी ऐसे entrepreneurs दिख जाएंगे जो लोगों को ऑनलाइन सेवाएं देने में अपना एक नया क्षेत्र खोल करके काम आगे बढ़ा रहे हैं। आज भारत के छोटे-छोटे शहरों में लोग जिस तरह स्टार्टअप शुरू कर रहे हैं, वो अपने आप में नई पीढ़ी के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, आत्‍मविश्‍वास का केंद्र बना हुआ है। स्टार्टअप की सफलता ने युवा शक्ति के सामर्थ्य की एक दुनियाभर में पहचान खड़ी की है।

साथियों

आप में से ज्यादातर नौजवान बेटे-बेटियां बहुत ही सामान्य परिवार से आए हैं। यहां तक पहुंचने के लिए आपने कड़ी मेहनत की है  आपके माता पिता ने भी बहुत कष्‍ट झेले हैं। आज आपको स्थायी भाव से 140 करोड़ देशवासियों की सेवा करने का अवसर मिला है, लेकिन अपने अंदर उस भावना को हमेशा जिंदा रखें जिसने आपको यहां तक पहुंचने के लिए प्रेरित किया था। हमेशा सीखते रहें, हमेशा अपनी स्किल्स को upgrade करते रहें और आगे बढ़ने की कोशिश करते रहें।

मेरी तरफ से आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं हैं। आप तो सफल हों, लेकिन हमारा देश भी सफल होना चाहिए। आप आगे बढ़ें, लेकिन हमारा देश भी आगे बढ़ना चाहिए। और देश को आगे बढ़ाने के लिए आपको भी आगे बढ़ना है। देश को आगे बढ़ाने के लिए आपको भी समर्थ होना है, सक्षम होना है। निरंतर आप अपना विकास करते चलिए और आपको मिली हुई जिम्‍मेदारी को भी बहुत ही बखूबी निभाते रहिए। यही मेरी आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं हैं।

बहुत-बहुत धन्यवाद।

ब्यूरो रिपोर्ट , आल राइट्स मैगज़ीन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: