Mumbai : आदित्य ओम की हिंदी और तेलुगू फिल्म बंदी का ट्रेलर हुआ लॉन्च

3 दर्जन फिल्मों में अपने अभिनय का जादू दिखा चुके  ऎक्टर आदित्य ओम की अदाकारी से सजी थ्रिलर फिल्म “बंदी” का जबरदस्त ट्रेलर मुम्बई के स्टार प्रीव्यू थिएटर में लॉन्च किया गया।
निर्माता निर्देशक रघु तिरुमाला दक्षिण भारत के हैं और यह फ़िल्म (हिंदी और तेलुगू) में मार्च 2024 में रिलीज होगी। फ़िल्म की सबसे खास बात यह है कि यह “सिंगल ऎक्टर” फ़िल्म है जी हां पूरी फिल्म में सिर्फ आपको आदित्य ओम ही नज़र आएंगे।
कुछ दूसरे किरदारों की केवल आवाजें सुनाई देंगी जिनमे से एक आवाज सिंगर कम्पोज़र अकबर सामी की है जो फ़िल्म के ट्रेलर लॉन्च पर भी उपस्थित थे।
फ़िल्म का ट्रेलर वास्तव में बहुत ही एंगेजिंग, थ्रिलिंग और एक्सप्रीमेन्टल है। पर्यावरण सुरक्षा को लेकर जागरूकता फैलाने के विषय पर यह फ़िल्म बनाई गई है जो रियल जंगलों में फिल्माई गई है।
आदित्य ओम इस फ़िल्म और अपने रोल को लेकर काफी उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि फ़िल्म में वह एक एडवोकेट की भूमिका निभा रहे हैं जो एक कॉर्पोरेट कंपनी के लिए जंगल को काटने की वकालत कर रहे हैं।
नेचर और जंगल बचाओ अभियान के लिए काम कर रहे कुछ कार्यकर्ता उनका अपहरण कर लेते हैं जो उसे पर्यावरण संरक्षण और जलवायु परिवर्तन की सच्चाई का सबक सिखाने के लिए उन्हें नरक जैसे हालात से गुजारते हैं। इस दौरान उसके साथ क्या क्या होता है फ़िल्म की कहानी इसी के इर्दगिर्द घूमती है।
रघु तिरुमाला द्वारा निर्मित और निर्देशित इस फ़िल्म में आदित्य ओम ने अभिनय किया है जो तेलुगु में एक जाने-माने अभिनेता हैं। हिंदी दर्शक उन्हें ‘मास्साब’, ‘बंदूक’ और ‘अल्लिफ’ जैसे उनके काम से परिचित हैं, फ़िल्म में उन्होंने नायक की भूमिका निभाई है। उनका लुक काफी डिफ्रेंट और प्रभावी है।
फ़िल्म बंदी की शूटिंग 4 वर्षों की अवधि में देश और विदेश के कई जंगलों में की गई है। आदित्य ओम ने अपने सभी स्टंट बिना किसी डबल या डुप्लिकेट के खुद किए हैं।
रघु तिरुमाला हैदराबाद के हैं और बतौर निर्माता निर्देशक यह उनकी पहली फ़िल्म है। उनका कहना है कि वह प्रासंगिक मुद्दों पर फिल्में बनाना चाहते हैं जो लोगों को जागरूक और सचेत करें।
पर्यावरण संरक्षण और जंगलों को बचाने का सन्देश देती यह फ़िल्म ‘गली सिनेमा’ के बैनर तले बनाई गई है। फिल्म के निर्माता वेंकटेश्वर राव डग्गू, एडिटर प्रकाश झा, डीओपी मधुसूदन कोटा, संगीतकार वीरल, लवन और सुदेश सावंत का है।
फ़िल्म में मुख्य आवाज़ें अकबर सामी और रूपा शर्मा की है। कहानी और पटकथा खुद आदित्य ओम ने लिखी है।
आदित्य ओम ने कहा कि जंगलों में शूटिंग करना काफी मुश्किल और चुनौती भरा काम रहा। शूटिंग करते समय जोंक पकड़ लेती थी, कभी खतरनाक जानवरों से बचना पड़ता था। एक बार तो बंदर हार्ड डिस्क का बैग लेकर चले गए, उसकी वजह से 3 दिन दोबारा शूट करना पड़ा।

गोपाल चंद्र अग्रवाल संपादक आल राइट्स मैगज़ीन मुंबई से अनिल बेदाग की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: