मौलाना कल्बे जव्वाद को मांगनी पड़ेगी भारतवासियों से माफ़ी !

सामाजिक कार्यकर्ता और अधिवक्ता सुबुही खान के द्वारा आज राजधानी लखनऊ के एक निजी होटल में मौलाना कल्बे जवाद और अधिवक्ता महमूद प्राचा के खिलाफ प्रेसवार्ता की गई। बता दें कि 3 दिन पहले सुबुही खान मौलाना कल्बे जवाद और महमूद प्राचा के खिलाफ चैक कोतवाली में तहरीर भी देने गई थीं। जिसके बाद आज फिर उन्होंने इसी मामले को लेकर एक निजी होटल में प्रेसवार्ता की और तहरीर देने के दौरान से लेकर अब तक मामले की जानकारी दी

पूरा मामला 20 तारीख से प्रकाश में आया था, जब धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद और अधिवक्ता महमूद प्राचा द्वारा एक प्रेसवार्ता कर माॅब लिंचिंग के खिलाफ आवाज उठाई गई थी। इस अवसर पर मौलाना कल्बे जावाद और अधिवक्ता महमूद प्राचा संयुक्त तौर पर कहा था कि मॉब लिंचिंग में लगातार एक धर्म विशेष अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। जिसमें मौलाना ने यह भी कहा था कि मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं को देखकर इसमें डिफेंस के लिए अब विशेष धर्म के लोगों को उनके द्वारा 26 तारीख को कैंप लगाकर ट्रेनिंग दिया जाएगा कि मॉब लिंचिंग की घटनाओं से खुद को कैसे बचाएं।

इस मामले को लेकर सुबुही खान का कहना है कि मौलाना एक विशेष धर्म को भड़काने की बात कर रहे हैं। इससे आपसी भाईचारा खत्म हो जाएगी और अपराध बढ़ेगा। सुबुही खान ने यह भी कहा कि मौलाना ने इस ट्रेनिंग के दौरान हथियार चलाने की ट्रेनिंग देने की भी बात कही थी जो की पूरी तरह गैर कानूनी है। उन्होंने कहा कि मौलाना के और अधिवक्ता महमूद प्राचा के इस बयान से 135 करोड़ भारत वासियों की भावना को ठेस पहुंचा है और मौलाना को तमाम भारत वासियों से माफी मांगनी चाहिए।

बाइट: सुबुही खान, समाजिक कार्यकर्ता, अधिवक्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: