बड़ी खबर : पत्रकारों के उत्पीड़न के संबंध में पत्रकारों ने निकाला केंडिल मार्च

बरेली (अशोक गुप्ता )- यूपी बोर्ड प्रश्नपत्र लीक मामले में बलिया जनपद के तीन निर्दोष पत्रकार अजीत ओझा , दिग्विजय सिंह ,व मनोज गुप्ता को जेल भेजा गया है।

इसके विरोध में पत्रकारों ने केंडिल मार्च निकाला केंडिल मार्च चौकी चौराह से गांधी प्रतिमा तक निकाला जिला प्रशासन शिक्षा विभाग ने अपनी गर्दन बचाने के लिए यह कार्रवाई की है। बलिया में यूपी बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्र लगातार आउट हो रहे थे। इसकी जानकारी जिला प्रशासन को थी। आपको बताना जरूरी है कि हाईस्कूल संस्कृत विषय की परीक्षा शुरू होने के पहले ही उसकी हल कापी होने की जानकारी जिलाधिकारी और जिला विद्यालय निरीक्षक को थी, फिर भी उसी प्रश्न पत्र पर कराई गई। संस्कृत का प्रश्न पत्र आउट होने की खबर को सभी प्रमुख समाचार पत्रों आदि ने प्रकाशित प्रसारित किया था। इसी बीच, 29 मार्च की रात को इंटर अंग्रेजी का भी प्रश्न पत्र आउट हो गया। इसकी परीक्षा 30 मार्च को दूसरी पाली में होनी थी। 30 मार्च को ही अमर उजाला ने आउट प्रश्न पत्र के चित्र के साथ समाचार प्रकाशित कर दिया। समाचार प्रकाशित होने पर शासन ने संज्ञान लिया और 24 जिलों में परीक्षा रद्द कर दी। बलिया जिला प्रशासन से शासन सवाल-जवाब करने लगा। नतीजा यह हुआ कि अपनी नाकामी छिपाने के लिए जिला प्रशासन ने 30 मार्च को दोपहर 12 बजे के करीब अमर उजाला के बलिया कार्यालय से शिक्षा विभाग की बीट देखने वाले वरिष्ठ पत्रकार अजीत ओझा को पुलिस से जबरदस्ती उठवा लिया और सायंकाल मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। अगले दिन अमर उजाला अखबार से जुड़े नगरा के रिपोर्टर दिग्विजय सिंह और राष्ट्रीय सहारा के मनोज गुप्ता को भी पुलिस ने बेवजह गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। आलम यह है कि जिला प्रशासन आज तक यह नहीं बता सका है कि गिरफ्तार पत्रकारों का क्या दोष है। हम कलमकारों की मांग है कि निर्दोष पत्रकार अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह और मनोज गुप्ता को तत्काल रिहा किया जाए। निर्दोष पत्रकारों पर दर्ज मुकदमें वापस लिए जाए। लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को दमन किए जाने की नियत से की गई कार्रवाई के लिए दोषी अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई हो। पेपर आउट मामले की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई हो, ताकि आगे से कोई भी युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने की हिम्मत न जुटा सके। जांच में जिले के पत्रकार शासन का पूरा सहयोग करने को तैयार हैं। बलिया के डीएम, एसएसपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए और उन्हें तत्काल बर्खास्त किया जाए। बरेली के समस्त पत्रकार आशीष गुप्ता , इंडिया न्यूज कृष्ण गोपाल राज, आज तक कुमार विनय सहारा समय अनूप मिश्रा एबीपी न्यूज़ दीपक शर्मा, भारत समाचार नीरज आनंद, न्यूज़ 24 सुनील सक्सेना, ईटीवी भारत विकास साहनी इंडिया टीवी हरीश शर्मा, न्यूज़ 18 यूपी अंश माथुर, सिटी न्यूज़ अजय मिश्रा, सिटी न्यूज़ अजय कश्यप, जी न्यूज मनोज शर्मा, न्यूज़ नेशन अरुण मौर्या, अम्रत विचार मयंक शर्मा, पीटीपी न्यूज़ रंजीत शर्मा, न्यूज़ टुडे भीम मनोहर, सी 10 दीपक चतुर्वेदी, जेके न्यूज़ अभिषेक कुमार, न्यूज़ 1 इंडिया अवनीश पांडेय, हिंदुस्तान अखबार अनुज मिश्रा, दैनिक जागरण संजय शर्मा, अम्रत विचार दानिश , अमर उजाला राहुल सक्सेना, विधान केसरी अशोक गुप्ता, पीटीआई अजय शर्मा, न्यूज़ 18 यूपी विकास सक्सेना, न्यूज़ 18 पुष्कर, एफएम न्यूज़ अशोक कुमार गुप्ता दैनिक स्वतंत्र भारत , दैनिक बरेली की आवाज़ , गम्भीर न्यूज आदि के रिपोर्टर मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: