Bareilly News : बिना डयूटी पर आए एम ओ आई सी जारी करा रहे महिला करमचारियों का वेतन,

बरेली से चौंकाने वाली बडी खबर बिना डयूटी पर आए एम ओ आई सी जारी करा रहे महिला करमचारियों का

सरकारी वेतन रास न आने से क्षुब्ध हो प्रभारी चिकितसा अधिकारी डाक्टर चौधरी ने बिना सरकारी डयूटी पर आए ही दो महिला करमचारियों का वेतन रिलीज करा दिया और विभाग को भनक भी नहीं लगी।

पूरा मामला उप्र के जनपद बरेली के सामुदायिक सवासथय केंद्र भोजीपुरा का है ।

जहाँ ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स रश्मि और प्रिया सक्सेना ने बिना ड्यूटी पर आए.ही अपने प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ चौधरी से उनसे अपने निज वित्तीय स्वार्थ के चलते आपसी वित्तीय सांठगांठ के चलते विगत 2 महीने से लगातार वेतन जारी करा लिया।

मामले की भनक जैसे ही सुदर्शन न्यूज़ चैनल कार्यालय बरेली को लगी । स्वास्थ विभाग में अफरा तफरी हो हड़कंप मच गया ।

माय संदर्भ में सामुदायिक स्वास्थ केंद्र भोजीपुरा के एमओआईसी डॉक्टर चौधरी से बात की तो उन्होंने अपनी गलती का एहसास करते हुए यह कहकर कि उनके साथ दगाबाजी की गई मामले में खुद को फंसता हुआ देखकर उनहोंने अपनी गलती को स्वीकार करते हुए सुदर्शन न्यूज़ चैनल टीवी बरेली से अपने दोनों नसों के काले कारनामों का पूरा चिट्ठा उन्होंने खोल दिया

आपको बताते चलें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ नर्स के पद पर तैनात रश्मि का अपना खुद का एक सहयोगी के साथ बरेली में अवैध रूप से बिना किसी प्रशासनिक अनुमति के निजी क्लीनिक चल रहा है।

जहां पर यह दोनो नर्स महिलाओं की डिलीवरी को लेकर यह 20 से ₹30,000/00 में निजी तौर पर सुविधाएं प्रति महिला के स्तर से देती आ रही है और सरकारी ड्यूटी से दो 2 महीने की लगातार हाजिरी लगाने का काम यहां के एमओआईसी डॉक्टर चौधरी संभाल रहे थे।

जिसके लिए डॉक्टर चौधरी सुविधा शुल्क भी लेते थे।

वहीं दूसरी महिला नर्स प्रिया सकसेना जिसमें यह मोहतरमा गरीबों को सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने सेवा करने के नाम पर गरीबों का खून चूस कर उनसे हजारों रुपए की धनराशि अवैध रूप से उगाई कर रही थीं।

जिसको लेकर प्रिया सक्सेना द्वारा डॉ चौधरी को हिस्सा ना देने पर एम ओ आई सी डाक्टर चौधरी ने पूरा बखेड़ा खड़ा कर दिया और मामले में जांच बैठलवा दी।

वही इस मामले में डिप्टी सीएमओ डाक्टर हरपाल सिंह ने इस मामले में जांच करके नर्स प्रिया सक्सेना को दोषी पाया इस मामले की जांच भी लंबित है।

आपको बता दें कि इस मामले को जिला स्वास्थ्य प्रशासन सुदर्शन न्यूज़ चैनल से छुपाकर दवाए बैठा था लेकिन सुदर्शन न्यूज़ चैनल की तेजतर्रार और खुफिया कवरेज से पूरा मामला निकल कर आ गया।

इस संदर्भ मे जब प्रभारी एडी हेल्थ बरेली मंडल बरेली के डॉक्टर अनिल कुमार चौधरी से बात की तो उन्होंने इस गंभीर प्रकरण पर बताया कि मामले में दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी विभागीय का कानूनी कार्यवाही की जाएगी चाहे वह संविदा कर्मी हो या परमानेंट किसी को भी सरकारी राजस्व को क्षति पहुंचाने की अनुमति नहीं दी जा सकेगी जिसके लिए सख्त से सख्त कदम जो भी होगा वह उठाया जाएगा।

01:-एडी हेल्थ डाक्टर अनिल कुमार चौधरी बरेली मण्डल बरेली की बाईट,

गोपाल चंद्र अग्रवाल संपादक आल राइट्स मैगज़ीन

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: