Bareilly News : जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई सम्पन्न

सड़कों के संरचनात्मक दोष के कारण हुई दुर्घटना में यदि कोई अपनी जान गंवाता है तो निर्माण संस्था के खिलाफ दर्ज होगा मुकदमा-जिलाधिकारी

ब्लैक स्पाट्स पर कराये गये कार्यों के निरीक्षण तथा दुर्घटना होने पर कारणों की जांच हेतु जिलाधिकारी ने बनायी कमेटी

बरेली, 14 दिसम्बर। जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार की अध्यक्षता मे कल देर शाम जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई।

जिलाधिकारी ने कहा कि सड़क में छोटी-छोटी कमियों व समय पर मेंटेनेंस ना होने के कारण भी बहुत से सड़क हादसे हो रहे हैं और निर्दोष लोगों की जानें जा रही हैं , जो बहुत ही गम्भीर मामला है।

उन्होंने नाराज़गी व्यक्त की कि पूर्व की बैठक में कहे जाने के वाबज़ूद भी सड़क में छोटी छोटी कमियाँ दूर करने हेतु सड़क से संबंधित कुछ विभाग द्वारा आवश्यक मरम्मत नहीं किए गए हैं।

और तो और NHAI के कुछ अधिकारी न तो बैठक में आते हैं और न ही मरम्मत संबंधी कार्य पूरा करते हैं, जिससे structural fault के कारण भी हुई दुर्घटना में कुछ निर्दोष लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है।

उन्होंने स्पष्ट कहा है कि भविष्य में structural fault (संरचनात्मक दोष) के कारण दुर्घटना होने की दशा में यदि कोई व्यक्ति अपनी जान गंवाता है तो सम्बन्धित अधिकारी/कार्यदायी संस्था के विरूद्ध मुकदर्ज दर्ज कराया जायेगा।

उन्होंने कड़े निर्देश दिए कि दुर्घटनाओं को कम करने की दृष्टि से सड़क निर्माण से सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा जो भी अनिवार्य कार्य हो जैसे सड़क मरम्मत, अवैध कट बंद करना, साइन बोर्ड लगाना आदि का कार्य यथाशीघ्र कराया जाये, जिससे दुर्घटनाओं और जान माल की क्षति को कम किया जा सकें।

बैठक में जिलाधिकारी को अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा ब्लैक स्पाट्स पर जेब्रा क्रासिंग, रम्बल स्ट्रिप, सोलर ब्लिंकर लाइट, एक्सीडेन्ट प्रॉन एरिया बोर्ड, स्पीड लिमिट बोर्ड, रम्बल स्ट्रिप साइन बोर्ड एवं हेल्पिंग बोर्ड आदि कार्य कराये गये है।

जिस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी/क्षेत्राधिकारी पुलिस को निर्देश दिये कि ब्लैक स्पाट्स का भ्रमण कर कार्य को देखें, ठीक प्रकार से हुआ है या नहीं।

और अपर जिलाधिकारी नगर, जो की सड़क सुरक्षा के नोडल अधिकारी हैं, के माध्यम से उन्हें रिपोर्ट दें कि और क्या करवाने से दुर्घटनायें कम होंगी और वह कार्य सड़क निर्माण से सम्बंधित किस विभाग/संस्था द्वारा कराया जायेगा।

इसके साथ ही यदि कोई सड़क दुर्घटना होती है तो संबंधित उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी और संबंधित अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग द्वारा मौके का निरीक्षण कर दुर्घटना होने पर कारणों की जांच कर रिपोर्ट दी जायेगी कि दुर्घटना structural fault के कारण हुई है या ड्राइवर की गलती या अन्य कारणों से हुई है। यदि structural fault के कारण हुई है तो संबंधित अधिकारी/कार्यदायी संस्था की ज़िम्मेवारी तय की जाएगी।

जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग एवं परिवहन विभाग को निर्देश दिये कि आपस समन्वय बनाकर बिना पंजीकरण के चलने वाले वाहनों, ओवर लोडिंग वाहनों एवं अधोमानक स्कूल वाहनों पर कार्यवाही की जाये। साथ ही बिना जीएसटी दिये हुए समान पकड़ा जाता है तो जीएसटी के अधिकारियों के साथ मिलकर नियमानुसार कड़ी कार्यवाही की जाय।

जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग के अधिकारियों से कहा कि पिछले एक सप्ताह में कितने ड्राइविंग लाइसेन्स निरस्त किये गये हैं और कितने वाहनों के पंजीकरण निरस्त करने हेतु आवश्यक कार्यवाही की गई है, जिस पर आरटीओ द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया।

जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुये आंकड़े रखने के निर्देश दिये। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में दुर्घटनाओं को रोकने हेतु यथासम्भव प्रयास किये जाये।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक घुले सुशील चन्द्रभान, मुख्य विकास अधिकारी जग प्रवेश, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 विश्राम सिंह, अपर जिलाधिकारी (वि/रा) संतोष बहादुर सिंह, अपर जिलाधिकारी नगर सौरभ दुबे, सिटी मजिस्ट्रेट रेनू सिंह, उप जिलाधिकारी सदर रत्निका श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी आंवला गोविन्द मौर्य, जिला विद्यालय निरीक्षक देवकी सिंह, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी संजय, एस0पी0 सिटी, एस0पी0 ट्रैफिक, ए0आर0टी0ओ0, समस्त क्षेत्राधिकारी पुलिस, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी, एन0एच0ए0आई के प्रतिनिधि, यू0पी0एस0एच0ए0 के अधिकारी सहित सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, बरेली

गोपाल चंद्र अग्रवाल संपादक आल राइट्स न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: