Bareilly News : बेटियाँ देश का भविष्य है, बेटी बसुन्धरा का भविष्य है, बेटियों की सुरक्षा एवं सम्मान करें

#allrightsmagazine #dmbareilly #beeti_bachao_beeti_paraoo_yojna

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अन्तर्गत राष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह समारोह

बेटियाँ देश का भविष्य है, बेटी बसुन्धरा का भविष्य है, बेटियों की सुरक्षा एवं सम्मान करें यही हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य होगा

‘‘बेटी है तो कल है’’ इस संदेश के माध्यम से बेटियाँ समाज की अमूल्य धरोहर है बेटियों को आगे बढ़ने के लिये प्रेरित करें

बरेली, 19 जनवरी। जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में आज जिला प्रोबेशन अधिकारी श्रीमती नीता अहिरवार के द्वारा जनपद के समस्त ब्लॉकों में बाल लिंगानुपात, बाल संरक्षण और किशोरियों में कौशल विकास का महत्व पर ग्राम सभा/महिला सभा का आयोजन एवं सार्वजनिक इमारतों पंचायत कार्यालयों घरों इत्यादि पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संदेश के साथ स्टीकर चस्पा अभियान चलाया गया, बेटियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने के लिये और समानता का भाव जगाने के लिये महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस दिनाँक 24 जनवरी, 2023 के अवसर पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अन्तर्गत राष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह समारोह का प्रारम्भ किया गया।

जिला विद्यालय निरीक्षक श्री सोमारू प्रधान ने अपनी डायरी पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का स्टिकर लगारकर बेटियों के प्रति अपना संदेश ज्ञापित किया। बेसिक शिक्षा अधिकरी श्री विनय कुमार ने अपने कार्यालय में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कलेण्डर बांटे साथ ही बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्टिकर लगाया।

जिला पूर्ति अधिकारी श्री नीरज कुमार ने सभी को बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ का सन्देश देने एवं प्रचार-प्रसार के लिए अपने डायरी में बेटी बचाओ-बेटी बढ़ाओ का स्टिकर चिपका कर समर्थन किया।

जिला प्रोबेशन अधिकारी श्रीमती नीता अहिरवार ने कलेक्ट्रेट में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के स्टिकर चस्पा किये, जिस पर विभिन्न सहायता नम्बर एवं बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देना, बाल-विवाह एवं कन्या भ्रूण हत्या को रोकने व 112, 1098, 181 आदि सहायता नम्बर महिला एवं बेटियों की सुरक्षा के लिये अंकित किये गये। इसके साथ ही वाहनों पर भी बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के स्टिकर लगाकर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का समर्थन किया।

संरक्षण अधिकारी सुश्री संध्या जायसवाल ने ब्लॉक फतेहगंज पश्चिमी के ग्राम कुरर्ता में कैम्प का आयोजन किया, जिसमें श्रीमती राखी गुप्ता द्वारा 14 किशोरियों को नोटपैड और पेन देकर आगे पढ़े और पढ़ाने का संदेश दिया। जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं समूह की महिलाओं ने प्रतिभाग किया महिला कल्याण अधिकारी सुश्री सोनम शर्मा ने ब्लॉक क्यारा के ग्राम करेली में कैम्प का आयोजन किया गया, जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं समूह की महिलाओं ने प्रतिभाग किया।

श्रीमती रिंकी सेनी ने ब्लॉक मझगवां में कैम्प का आयोजन किया, जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं समूह की महिलाओं ने प्रतिभाग किया। श्रीमती अन्नपूर्णा वन स्टॉप सेन्टर से पैरामेडिकल स्टाफ ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अखिलेश कुमार चौरसिया को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के स्टीकर प्रदान कर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया एवं अस्पताल, कार्यालय, घरों, सार्वजनिक स्थानों इत्यादि पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संदेश के साथ स्टीकर चस्पा अभियान चलाया गया। श्रीमती सुमन गंगवार सामाजिक कार्यकर्ता ने ब्लॉक बिथरी चैनपुर में कैम्प का आयोजन किया गया, जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं समूह की महिलाओं ने प्रतिभाग किया।

श्री अनिल कुमार आउटरिच कार्यकर्ता एवं श्री अरूण कुमार आउटरिच कार्यकर्ता ने कैम्प का आयोजन किया। इन समस्त कार्यक्रमों में महिला एवं बालिकाओं को बाल लिंगानुपात में सुधार हेतु अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की गयी एवं बाल संरक्षण हेतु बाल संरक्षण योजना के अन्तर्गत स्पॉन्सरशिप के बारे में अवगत कराया व ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता नहीं हैं। उन्हें बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कराकर किसी भी बाल गृह में रखवाया जा सकता है और यदि कोई उनका संरक्षण बनना चाहता है तो वह बाल कल्याण समिति के समक्ष ही प्रस्तुत होकर संरक्षक बनने की प्रक्रिया पूरा कर सकता है साथ ही बालिकाओं को कौशल विकास का महत्व बताया गया व समस्त सहायता नम्बर 112, 1090, 1098, 1076, 181, 102, एवं 108 के बारे में बताया गया।

बेटियों को समाज में महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना करते हुये संदेश दिया गया कि ‘‘बेटी है तो कल है’’ इस संदेश के माध्यम से बेटियाँ समाज की अमूल्य धरोहर है बेटियों को आगे बढ़ने के लिये प्रेरित करें और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अन्तर्गत समाज की हिस्सेदारी बहुत ही आवश्यक है। इसके साथ ही राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर शुभकामनायें दी।

बेटिया देश का भविष्य है, बेटी बसुन्धरा का भविष्य है, बेटियों की सुरक्षा एवं सम्मान करें यही हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य होगा। इसके साथ ही समस्त अधिकारियों/ कर्मचारियों द्वारा अभियान को सफल बनाया गया एवं बढ़-चढ़ कर इसमें हिस्सा लिया गया कार्यक्रम में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के कैलेण्डर भी वितरित किये एवं बाल लिंगानुपात, बाल संरक्षण और किशोरियों में कौशल विकास का महत्व पर ग्राम सभा/ महिला सभा का आयोजन एवं सार्वजनिक इमारतों, पंचायत कार्यालयों और घरों इत्यादि पर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संदेश के साथ स्टीकर चस्पा अभियान चलाया गया।

दिनांक 20 जनवरी को किशोरियों के बीच खेलों को बढ़ावा देने पर विद्यालयों के साथ कार्यक्रम में समाज कल्याण और सामदायिक लामबन्दी पर पोस्टर/स्लोगन लेखन/कला/दीवार पेन्टिंग आदि प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा दिनांक 23 जनवरी को बाल विवाह समाप्त करने की दिशा में धार्मिक नेताओं, समुदाये के नेताओं के साथ बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संवेदीकरण, जागरुकता पर सामुदायिक बैठकें एवं पी.सी.पी.एन.डी.टी. एम.टी.पी. एक्ट व महिलाओं के स्वास्थ्य पोषण व कानूनों पर चर्चा की जाएगी।

गोपाल चंद्र अग्रवाल संपादक आल राइट्स मैगज़ीन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: