दर्दनाक हादसा : गर्जिया देवी मंदिर से लौट रहे बीजेपी पार्षद समेत तीन लोगों की मौत

काशीपुर मुरादाबाद हाईवे पर ग्राम लौंगी खुर्द के सामने सोमवार सुबह चलती कार का टायर फटने से मझोला पार्षद की कार कैंटर से टकरा गई। कार के परखच्चे उड़ गए और कैंटर पलट गया। हादसे में मझोला पार्षद नन्हू सैनी की पत्नी व दामाद की मौत हो गई। जबकि दो बच्चों समेत चार लोग गंभीर घायल हो गए। सभी लोग गर्जिया देवी मंदिर से लौट रहे थे।

मुरादाबाद के नगर निगम के अंतर्गत वार्ड 37 (मझौला) के पार्षद नन्नू सैनी का परिवार रामनगर स्थित गर्जिया देवी मंदिर में दर्शन के लिए गया था। परिवार कार से मुरादाबाद वापस लौट रहा था। रास्ते में ठाकुद्वारा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम लौंगी खुर्द के सामने कार का अगला टायर अचानक फट गया। इससे कार अनियंत्रित होकर सामने से आ रहे कैंटर से टकरा गई। टक्कर इतनी जबर्दस्त की कि कार के परखच्चे उड़ गए। टक्कर के बाद कैंटर भी पलट गया।

हादसे में कार चला रहे पार्षद नन्हू सैनी के दामाद बिलारी के ग्वारो निवासी नेत्रपाल (38) स्टेयरिंग और क्षतिग्रस्त कार में फंस गया। जब तक लोग मदद करने पहुंचे और उसे बाहर निकाले, उसकी मौत हो चुकी थी। हादसे में पार्षद नन्नू सैनी (65), पत्नी कमला सैनी (60), बेटी नीतू सैनी (35) पत्नी नेत्रपाल, नीतू की तीन वर्षीय बेटी भूमि व एक वर्षीय बेटा लवेश गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को चिंताजनक हालत में काशीपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। पार्षद की हालत गंभीर देखते हुए परिजनों ने सोमवार देर शाम वहां से रेफर करके उन्हे मुरादाबाद के कॉसमॉस अस्पताल में भर्ती कराया है। उसी कार में पार्षद का पुत्र दीपक सैनी (32) भी सवार था, जो बाल-बाल बच गया। नीतू और बच्चों के चीखों से अस्पताल गूंजा ।

लौंगी खुर्द के सामने हुई सड़क दुर्घटना में घायल नीतू और उसके दोनो बच्चों लवेस और भूमि के करूण क्रंदन व चीखपुकार से पूरा अस्पताल गूंजता रहा। महिला व बच्चों का विलाप सुनकर पूरा अस्पताल स्टाफ, वहां भर्ती रोगी व उनके तीमारदार तथा पुलिसकर्मी द्रवित हो उठे।हाईवे पर जाम से अफरा तफरीठाकुरद्वारा। काशीपुर मुरादाबाद हाईवे पर लौंगी खुर्द के सामने हुए हादसे के बाद ग्रामीणों और राहगीरों की भारी भीड़ एकत्र हो गई। सभी लोग राहत और बचाव कार्य में जुट गए। देखते ही देखते हाईवे पर जाम लगा गया। वाहनों की लंबी लाइन लगती चली गई। काफी देर तक जाम की स्थिति बनी रही। घायलों को पुलिस व 108 एम्बुलेंसकर्मी राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए तब जाम खुला और यातायात सुचारु हो सका।

लौंगी खुर्द के सामने पार्षद नन्हू सैनी की जिस कार की टक्कर हुई। उसी में उनका बेटा दीपक सैनी भी सवार था। इसे संयोग ही कहेंगे कि कार सवार दो लोगों की मौत हो गई, अन्य सभी लोग घायल हो गए। लेकिन हादसे में दीपक बाल-बाल बच गया। क्षेत्र में इस बात की चर्चा लोग ईश्वरीय चमत्कार के रूप में करते नजर आए।

हादसे में जान गवाने वाले पार्षद नन्हू सैनी के दामाद नेत्रपाल को कहां पता था कि परिवार के साथ की जा रही यह यात्रा उसकी अंतिम यात्रा होगी। मृतक नेत्रपाल के तीन साल की बेटी भूमि व एक साल का बेटा लवेश हैं। दोनों को अभी दुनियादारी का ज्ञान ही नहीं है। दोनों को अभी यह भी नहीं पता है कि उनके सिर से पिता का साया उठ गया है। दोनों पर दुखों का यह पहाड़ फादर्स डे के ठीक अगले ही दिन लगा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.