बेटे ने माँ को तमंचा दिखा कर लिखवाया मकान

बरेली के थाना बारदारी काकर टोला की रहने बाली रहमत पत्नी स्वर्गीय मोहम्मद सिद्दीकी आयु लगभग 80 बर्ष प्रार्थिनी ने एक मकान दिनांक 3 एक 1965 को श्रीमती देवी बाई से एक मकान खरीदा था.

 

जिसमें 400 गज जगह है तथा दूसरा मकान बिशनदास से 1970 में खरीदा था जिसमें 255 गज जगह है मैंने पूरे मकान का हिस्सा अपने बेटे मोहम्मद अफरोज खान के नाम कर दिया था 2017 में इदरीश खान ने मुझको धोखा देकर तमंचा दिखकर नशे की गोलियां देकर अपने नाम पर मकान रजिस्टर करवा लिया.

मैं चाहती हूं कि मेरा मकान मुझे दिलवाया जाए पीड़िता ने एसएसपी ऑफिस में करी शिकायत.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.