प्रधान मंत्री ने 14 और 15 जुलाई, 2018 को पूर्वी उत्तर प्रदेश की यात्रा की

प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी, 14 और 15 जुलाई, 2018 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी, आज़मगढ़ और मिर्जापुर जिलों का दौरा करेंगे।

 

The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing the gathering, in Mirzapur, Uttar Pradesh on July 15, 2018.

 

आज़मगढ़ में, 14 जुलाई को प्रधान मंत्री ने 340 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के फाउंडेशन स्टोन रखें। यह राज्य राजधानी – लखनऊ के साथ बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अम्बेडकर नगर, आजमगढ़, और गाज़ीपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक कस्बों को जोड़ती है। एक बार यह एक्सप्रेसवे पूरा होने के बाद, दिल्ली एक्सप्रेसवे के माध्यम से, उत्तर प्रदेश राज्य के कई प्रमुख शहरों और शहरों में, पश्चिम में नोएडा से, पूर्व में गाज़ीपुर तक जुड़ा होगा।

वाराणसी में, प्रधान मंत्री महत्वपूर्ण परियोजनाओं के आधारशिला को समर्पित करेंगे, जो कुल रूप से 900 रु करोड़ समर्पित परियोजनाओं में से वाराणसी सिटी गैस वितरण परियोजना, और वाराणसी-बलिआ ईएमयू ट्रेन हैं। आधारशिला परिक्रमा मार्ग, और स्मार्ट सिटी मिशन और नामामीगंज के तहत कई परियोजनाओं के लिए आधारशिला रखी गयी। प्रधान मंत्री ने वाराणसी में अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र के लिए फाउंडेशन स्टोन भी रखें।

 

 

एक अलग घटना में, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने, प्रधान मंत्री की उपस्थिति में “मेरी काशी” नामक पुस्तक जारी की।

15 जुलाई को प्रधान मंत्री मिर्जापुर गए , जहां वह राष्ट्र को बंसगर नहर परियोजना को समर्पित हुए। यह परियोजना क्षेत्र में सिंचाई के लिए एक बड़ा बढ़ावा प्रदान करेगी, और उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर और इलाहाबाद जिलों के किसानों के लिए काफी फायदेमंद होगी।

उसी घटना में, श्री नरेंद्र मोदी ने मिर्जापुर मेडिकल कॉलेज के फाउंडेशन स्टोन रखें। वह राज्य में 108 जनवरी औशाधी केंद्र का उद्घाटन करेंगे। वह बलुघाट, चुनार में गंगा नदी पर एक पुल भी समर्पित करेंगे, जो मिर्जापुर और वाराणसी के बीच कनेक्टिविटी की सुविधा प्रदान करेगा।

 

[ SOURCE BY PIB ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.