पंडितों का अस्तित्व मिटा दूंगा : सिंचाई मंत्री धर्मपाल

बरेली : शहर के चर्चित विधायक के चहेतों ने योगीराज में एक ब्राह्मण के आश्रम पर अवैध कब्जा कर पुलिस की सहायता से ब्राह्मण को थर्ड डिग्री दिलवा दी मामला राम गंगा नगर कॉलोनी के पास ग्राम चंद्रपुर थाना बिथरी चैनपुर का है जहां आबादी से 400 मीटर दूर महात्मा सुखदेव पुत्र श्री राम लला शर्मा का आश्रम विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल के चहेते गौरव सिंह पुत्र लखपत सिंह ने पीड़ित के आश्रम पर कब्जा कर लिया है जब इसकी शिकायत चौकी में की गई तो गाली गलौज के साथ पीड़ित को पीटा गया आरोप है कि पीड़ित को विधायक द्वारा प्यार से चौकी पर बुलवाया गया जहां गौरव सिंह व अन्य लोगों के सामने चौकी इंचार्ज कमलेश मिश्रा ने पीड़ित के ऊपर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल करते हुए डंडो व पटों से पीट-पीटकर सुझा दिया चौकी इंचार्ज द्वारा गांव के आसपास ना दिखने की हिदायत दी गई विधायक के दबाव में पीड़ित के पास तमंचा व जिंदा कारतूस दिखा कर जेल भिजवा दिया गया जब की घटना की जानकारी मिलते ही एसएसपी ने चौकी इंचार्ज को तत्काल रुप से लाइन हाजिर कर दिया अब पीड़ित जमात के बाद अपना गांव छोड़कर अन्य जगह पर दहशत में रह रहा है पीड़ित का कहना है कि थाना स्तर को छोड़कर उच्च अधिकारियों से जांच करवा कर उचित कार्रवाई की जाए। न्याय ना मिलने की स्थिति में पीड़ित परिवार सहित योगी के दरबार में आत्मदाह करने को मजबूर होगा।

 

 

दूसरा मामला बरेली : इसी के साथ दूसरा मामला आंवला का है जहां रजनीश तिवारी पुत्र परमानंद तहसील गेट के रहने वाले भूरीपुर निवासी सुखराम के लड़के से झगड़ा हो जाने पर मुकदमा हुआ फिर जमानत हो गई 1 जुलाई को आंवला के विद्या मंदिर स्थित कार्यक्रम में पहुंचे सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह से क्षमा याचना और समझौते के उद्देश्य से बात करने पहुंचे जिस पर सच्चाई मंत्री ने कंधे पर हाथ रख कर एक किनारे ले गए और कान में कहा की लोधी से झगड़ा बहुत महंगा पड़ेगा। पंडितों का अस्तित्व मिटा दूंगा शायद तुम मंत्रियों की ताकत को नहीं जानते हो ऐसे झूठे मुकदमे में जेल भेजूंगा कि निकल नहीं पाओगे इस मामले में भी आंवला थाने में सिंचाई मंत्री के खिलाफ तहरीर दे दी गई है।इन दोनों मामलों से तो कुछ ऐसा लगता है जैसे भाजपाइयों को चढ़ी खुमारी क्या अब पंडितों की बारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.