भारत मे होली बाद कोरोना टीका देने के संकेत, तब तक मास्क और दूरी ही बचाव !

कोविड 19 की महामारी के बीच अब वैक्सीन आने के संकेत भी भारत सहित कई देशों से मिलने लगे है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड वेक्सीन तैयार करने वाली अहमदाबाद की जाइडस कैडिला, हैदराबाद में भारत बायोटेक और पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट प्रयोगशालाओ का दौरा कर वेक्सीन के अब तक हुए ट्रायल की वैग्यानिकों के साथ मिलकर जानकारी ली और उनका उत्साह बढाया। मोदी जी का कहना है कि वेक्सीन से जुड़ी सभी जानकारी जनता को साधारण बोलचाल में बताना जरूरी है वेक्सीन बना रही 3 भारतीय कंपनियों के प्रमुखों से वर्चुअल मीटिंग में कहा कि कोरोना का टीका कितना कारगर होगा, कितना असर होगा जनता को भी बताया जाए ताकि उनकी भी शंका दूर हो सके।। प्रधानमंत्री ने कोविड टीके को तैयार करने वाले नियामकों से सुझाव भी मांगे ताकि उन पर भी सरकार के स्तर पर मंथन हो सके । केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के अनुसार होली के बाद ही वर्ष 2021 के अप्रैल मई तक वेक्सीन मिलने की उम्मीद की जा रही है। इसी को ध्यान में रखकर अगस्त 2021 तक भारत मे लगभग 30 करोड़ लोगों को कोरोना की वेक्सीन की डोज देने की जमीनी तैयारी भी की जा रही है। जिसमे सबसे पहले कोरोना के मेडिकल वारियर्स को टीका लगाया जाएगा ताकि कोरोना की चैन टूट सके। सरकार इस योजना पर 20 हजार करोड़ रुपये खर्च करने का अनुमान है। राष्ट्रीय टास्क फोर्स के सूत्रों से बाहर आई जानकारी के अनुसार जो योजना पीएमओ को गई है उसमे प्रति व्यक्ति टीकाकरण की 2 डोज का दाम 400 रुपये आंका गया है। सभी को टीका लगाने की भी तब आवश्यकता नही होगी। प्रधानमंत्री मोदी अब तक कह रहे थे कि ‘जब तक दवाई नही तब तक ढिलाई नहीं’ , मास्क और दो गज की दूरी सबसे जरूरी। लोगो ने उनके संदेश को माना भी यही कारण है कि अन्य देशों की तुलना में भारत मे कोरोना से मौत का आंकड़ा काफी कम है। मन की बात में उन्होंने कोरोना काल मे मानवता की सेवा करने वालो की सराहना भी की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कोरोना कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस की व्यवस्था को मजबूत बनाने के निर्देश दिए है। साथ ही सभी जिलों में 15 दिसंबर 20 तक कोविड 19 की वेक्सीन की कोल्ड चैन अवस्थापना के कार्य पूरे करनें को कहा है। साथ ही इस सर्दी के मौसम में होम आइसोलेशन में बच्चो एवम बुजर्गों को नही रखने को भी कहा है। अब दिल्ली की निजी प्रयोगशाला में कोरोना की आर टी पी सी आर जांच 800 रुपये में चल रही है। कोरोना महामारी पर प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक 4 दिसम्बर को भी होगी । समझा जा रहा है इसमें वेक्सीन के बारे में अब तक हुई प्रगति की जानकारी दी जा सकती है। भारत मे कोरोना संक्रमण में सबसे ऊपर महाराष्ट्र है फिर कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली के बाद ही उत्तर प्रदेश का नम्बर है। भारत में पिछले 24 घंटे में कोविड -19 के 36 लाख,604 नए मामले आने के बाद कुल मामलों की संख्या 94 करोड़ 99 लाख 414 हुई है । 501 नई मौतों के बाद भारत मे कुल मौतों की संख्या 1 लाख 38 हजार 122 हो गई है।
देश में सक्रिय मामले अब 4,28,644 हैं। 43,062 नए डिस्चार्ज के बाद कुल डिस्चार्ज की संख्या 89 लाख 3 हजार 647 हुई। अगर दुनिया की बात की जाए तो कोरोना संक्रमण में अमरीका एवम ब्राजील ही सबसे ऊपर है। दुनिया मे कोरोना का आंकड़ा 6.31 करोड़ को पार कर गया है। और इससे मोत भी 14.67 लाख हो चुकी है। महामारी की चपेट में आये 4.36 करोड़ लोग कोरोना से उपचार में ठीक भी हुए है। चीन भी दावा कर रहा है कि उसने उत्तर कोरिया में किम जोंग परिवार को वैक्सीन का प्रायोगिक टीका लगाया है पर उसके दावे की कोरिया ने पुष्टि अभी नही की है। निर्भय सक्सेना, पत्रकार बरेली 9411005249

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: