PNB में 11,300 करोड़ का घोटाला आया सामने,वित्त मंत्रालय ने कहा-सब है अंडर-कंट्रोल

pnb-new

देश के बड़े बैंकों में से एक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की मुंबई ब्रांच से 11300 करोड़ रुपये के घोटाले की खबर ने सबको चौंका दिया ।इस खबर के फैलते ही हरकत में आई वित्त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर, मामले पर जताई जा रही आशंकाओं को खारिज कर दिया है। साथ ही वित्त मंत्रालय ने यह भी कहा कि मामला ‘नियंत्रण के बाहर’ नहीं है और इस बारे में उचित कार्रवाई की जा रही है। वित्तीय सेवा विभाग में संयुक्त सचिव लोक रंजन ने कहा ‘मुझे नहीं लगता कि यह नियंत्रण से बाहर या इस समय कोई बड़ी चिंता की बात है.’ इससे पहले दिन में पीएनबी ने खुलासा किया कि उसने कुछ धोखाधड़ी वाले लेनदेन का पता लगाया है. ये लेनदेन करीब 11,334.4 करोड़ रुपये का है।

विधि प्रवर्तन एजेंसियों को भेज दिया गया
बैंक की तरफ से कहा गया कि वसूली के लिए यह मामला विधि प्रवर्तन एजेंसियों को भेज दिया गया है. बैंक ने कहा कि इन लेनदेन के आधार पर अन्य बैंकों ने संभवत: कुछ ग्राहकों को विदेशों में ऋण दिया है. इस मामले को पहले ही विधि प्रवर्तन एजेंसियों को भेज दिया गया है, जिससे दोषियों के खिलाफ कानून के हिसाब से कार्रवाई हो सके. बैंक ने कहा कि वह स्वच्छ और पारदर्शी बैंकिंग को लेकर प्रतिबद्ध है. दस दिन से भी कम के समय में यह बैंक धोखाधड़ी का दूसरा मामला सामने आया है. इससे पहले 5 फरवरी को सीबीआई ने अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी, उनकी पत्नी, भाई और एक व्यापारिक भागीदार के खिलाफ वर्ष 2017 में पीएनबी के साथ 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था.

अनधिकृत ट्रांजेक्शन से जुड़ा है मामला
पीएनबी की मुंबई ब्रांच का यह मामला अनधिकृत ट्रांजेक्शन से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है. इन ट्रांजेक्शन से कुछ चुनिंदा अकाउंट होल्डर को फायदा पहुंचाया जा रहा था. बैंक तरफ से इस बारे में बाम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) को इसकी जानकारी दे दी गई है. इस फर्जीवाड़े का असर कुछ दूसरे बैंकों पर भी देखने को मिल सकता है. इस पूरे मामले की जांच बैंक की आंतरिक कमेटी भी कर रही है.

कार्रवाई के बारे में जल्द फैसला होगा
सूत्रों ने बताया कि आरोपों की जांच की जा रही है और आगे की कार्रवाई के बारे में जल्द ही फैसला किया जाएगा. एजेंसी ने और कोई जानकारी यह कहते हुए नहीं दी कि इससे जांच में बाधा आ सकती है. जांच एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक से मिली एक शिकायत को लेकर सीबीआई पहले ही मोदी के खिलाफ जांच कर रही है.

पीएनबी के शेयर में 10 फीसदी की गिरावट
बैंक की तरफ से इस फर्जीवाड़े में शामिल किसी शख्स का नाम नहीं लिया गया है. इस फर्जीवाड़े की जानकारी सामने आने के बाद पीएनबी का शेयर कारोबार के अंत में 10.39 फीसदी टूटकर 144.85 रुपये पर बंद हुआ. इससे निवेशकों के 3000 करोड़ रुपए से भी ज्यादा डूब गए हैं. बुधवार को शुरुआती कारोबार में भी पीएनबी का शेयर 5.7% तक गिर गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: