बेखौफ अपराधियों ने एक आरटीआई कार्यकर्ता सहित दो को गोली मारकर की हत्या

सिकन्दरा क्षेत्र अंतर्गत बिछवे गांव में बाइक सवार अपराधियों ने एक आरटीआई कार्यकर्ता बाल्मीकि यादव और धर्मेंद्र यादव को गोली मार कर निर्मम हत्या कर दी।गोली की अवाज सुनते ही परिजन व ग्रामीण जैसे ही घटना स्थल पर पहुँचे तो अपराधी बाइक से फरार हो गया।एक आरटीआई कार्यकर्ता बाल्मीकि यादव की मौत घटना स्थल पर ही हो गई जबकि धर्मेंद्र की मौत अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में हो गई।सूचना मिलते ही घटना स्थल पर पहुँची सिकन्दरा पुलिस शव को कब्ज़े में लेना चाहा लेकिन आक्रोशित ग्रामीण शव के समीप अड़े रहे और अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे।

लगभग 12 घंटे तक शव बिछवे गांव में घटना स्थल पर ही पड़ा रहा।बाद में जमुई से मौके पर पहुँचे अधिकारियों के द्वारा ग्रामीणों को समझा बुझा कर शव को कब्ज़े में लेकर अंतपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल जमुई भेजा।

 

*पहले गोलियों से भुना,फिर तेज़धार हथियार से वार कर की हत्या

बताया जाता है कि 5 से 6 की संख्यां में अपराधी बिछवे गांव से कुछ दूरी पर पहले से घात लगाए बैठे थे।जिस क्रम में रविवार की शाम आरटीआई कार्यकर्ता बाल्मीकि और धर्मेंद्र एक ही बाइक पर सवार होकर सिकन्दरा से अपने घर आ रहे थे।जिस दौरान अपराधियों ने बाइक को रुकवा कर पहले एक को पेट में और दूसरे को सीना में गोली मार दी।इतना ही नहीं जब दोनो युवक बाइक से नीचे गिर गया तो अपराधियों ने बेरहमी से तेजधार हथियार से सर पर वार कर हत्या कर दी।

*आंगनबाड़ी में सेविका की नियुक्ति को लेकर की गई युवक की हत्या

हत्या के संबंध में मृत धर्मेंद्र यादव के पिता सुरेश यादव ने बताया कि जब से आंगनबाड़ी सेविका की नियुक्ति शुरू हुई थी तब से इसी गांव के श्री यादव व उसके पुत्र अवधेश यादव और अरुण यादव कई बार जान से मारने की धमकी भी दे चुका था।उनलोगों का कहना था कि धर्मेंद्र सेविका बहाली में अपनी पत्नी का फार्म नहीं भरे क्योंकि इस बहाली में अवधेश अपनी पत्नी को करवाना चाह रहा था।
लेकिन जब धर्मेंद्र उसकी बातों को नहीं माना तो उसकी हत्या कर दी गई।वहीं सुरेश के पिता ने बिछवे के मुखिया का भी इस हत्या में संलिप्तता बताई है।

आगे इस संबंध में मृतक धर्मेंद्र की पत्नी रेणु देवी ने बताया कि सेविका बहाली में मेरा चयन हो चुका था लेकिन अवधेश ने डुप्लीकेट सर्टिफिकेट लगा कर चयन प्रक्रिया के बाद अड़चन लगा दिया था जिसे धर्मेंद्र ने कागज़ी तौर पर अवधेश को गलत साबित कर दिया था।जिस रंजिश की वजह से योजना के तहत हत्या कर दी गई।

*कहते हैं पुलिस पदाधिकारी

घटना के संबंध में सदर एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने बताया कि दो लोगों की गोली मारकर हत्या करने की सूचना मिलते ही घटना स्थल पर पहुंच कर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए दो लोगों को फौरन हिरासत में लिया गया है।आरोपी में बिछवे पंचायत के मुखिया कृष्णदेव दास को जमुई से और जदयू के प्रखंड अध्यक्ष सुरेश महतो को बिछवे गांव से गिरफ्तार कर गहन पूछ-ताछ की जा रही है।आगे उन्हीनें कहा कि पुलिस जांच में जुटी है और इस हत्या में जिसकी भी संलिप्तता होगी उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.