भाकपा ने 11 सूत्री मांगों को ले दिया प्रखण्ड मुख्यालय पर एकदिवसीय धरना

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विभिन्न मांगों को लेकर नासरीगंज प्रखंड मुख्यालय पर एक दिवसीय धरना दिया। जिसकी अध्यक्षता अध्यक्षता ‌अजय कुमार सिंह ने किया। लोगों ने अपनी मांगों के समर्थन में एक ज्ञापन बीडीओ की अनुपस्थिति में बीएओ महेश चौधरी को सौंपा।

भाकपा के 11 सूत्री मांगों में शौचालय निर्माण की राशि का तत्काल भुगतान किया जाना, शौचालय निर्माण, पीएम आवास, वृद्धावस्था व विधवा पेंशन, मनरेगा और सात निश्चय के तहत जारी योजनाओं को भ्रष्टाचारमुक्त करना, भूमिहीनों को आवास के लिए तीन डिसिमल और जीविकोपार्जन के लिए एक एकड़ की भूमि की बंदोबस्ती किया जाना, आपदा से प्रभावित किसानों को प्रति एकड़ एक लाख रुपये का मुआवजा और बैंक लोन माफ किया जाना, सैंकड़ों उपभोक्ताओं के गलत बिजली प्रपत्र में तत्काल सुधार किया जाना, सड़क जाम के मामले में अमियावर गांव के निर्दोष लोगों पर किये गये मुकदमे वापस लेना इत्यादि शामिल हैं।

एआईएसएफ के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव विजयेंद्र केसरी ने धरनार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि एनडीए की केंद्र व राज्य सरकारें पूरी तरह से दलित, गरीब व किसान विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में जहां कानून व्यवस्था पूरी तरह बदहाल हो चुकी है। वहीं देश भर में सांप्रदायिक और दलित विरोधी हिंसा में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। श्री केसरी ने कहा कि जनता कमरतोड़ मंहगाई से कराह रही है और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बावजूद सरकार मंहगे पेट्रोल डीजल बेचकर तेल कंपनियों को फायदा पहुंचा रही है।

वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रमुख रामजी सिंह, केशव प्रसाद सिंह, राम अयोध्या प्रसाद, सुनिल कुमार सिंह, धर्मेन्द्र कुमार सिंह और रविकांत सिंह इत्यादि ने भी धरनार्थियों को संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.