बेरोज़गार कश्मीरी फेक रहे है पत्थर,आल इंडिया तंजीम उलेमा ए इस्लाम की बैठक !

आला हज़रत इमाम अहमद रजा खां के १००वे उर्से रजवी के मौके परआल इंडिया तंजीम उलेमा ए इस्लाम की राष्ट्रीय कार्यकारिणीकी बैठक होटल समय में संपन्न हुई जिसमें मुसलमानो के हालात पर चर्चा हुई और १२-सूत्रीय एजेंडा तय किया गया ,जिसमें भारतीय मुसलमानों के शैक्षिक ,आर्थिक पिछड़ेपन का मुख्य कारण देश में आज़ादी के बाद मुसलमानों के लिए बनाए गए कमिशन रंग नाथ मिश्रा आयोग,लिब्राहन कमिश्न,सच्चर  रिपोर्ट जिसमें मूसलमानो की हालत दलित से बदतर बताई गई है !

आयोग की रिपोर्ट के आधार पर मुसलमानो को १०-प्रतिशत नोकरी मेंआरक्षण दिया जाए । देश में बढ़ती सांप्रदायिकता को रोका जाए,गौरक्षा की आड मे मोब लिंकिंग करने वालो को सख्त सजा दी जाए। लव जिहाद के नाम पर अत्याचार को रोका जाए ,उर्दू भाषा को दूसरी सरकारी भाषा घोषित किया जाए,रोहिंगिय मुसलमानों पर होरहेअत्याचारों के खिलाफ दुनिया भर में आवाज़ उठ चुकी है उनको उनकेदेश मे बसाने के प्रयास किया जाएं,शहरों और जगह के नाम बदलनेकी राजनीति सांप्रदायिकता को बढ़ावा दे रहीं रोका जाए,भारतीय मुसलमानों के द्वारा स्थापित तालीमी इदारों को अल्पसंख्यक दर्जा घोषित करने का बिल लाया जाए बाबरी मस्जिद पर कोई बयान बाजी नहीं होना चाहिए मामला सुप्रीम कोर्ट में हैफैसल का इंतजार करना चाहिए।आला हजरत के उर्स के माध्यम से तमाम मुस्लिम संगठनों से अपील की गई कि वह भारत के प्रधान मंत्री और सत्ता पक्ष के खिलाफ कोई विरोध प्रदर्शन न करे जिससे बहुसंख्यक और मुसलमानों के बीच कोई दरार ना पड़े बैठक मे मुफ्ती अशफाक हुसैन कादरी दिल्ली,मौलाना सईद नुरी मुंबई ,मौला ना शहाबुद्दीन बरेली मौलाना सखी खान राठौड़ जम्मू कश्मीर,खलीलुर्रहमान महाराष्ट्र,मौलाना असलम रजवी गुजरात,मौलाना शेख नफेल केरला,प्रोफेसर हलीम खान मध्यप्रदेश, हाजी नाजिम बेग, मौलाना अकबर अली फारूखीरायपुर, मुफ्ती बिलाल रामपुर,मौलाना इन्कलाब नूरि शाहजहांपुर,आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.